अखिलेश ने जहरीली शराब से मौत के लिए योगी सरकार को ठहराया जिम्मेदार, कहा- मिलीभगत से चल रहा था अवैध कारोबार

अखिलेश यादव ने जहरीली शराब से मौत पर कहा कि इस तरह के मामलों में सरकार खुद संलिप्त थी। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि अवैध शराब के धंधे बिना सरकार की मिलीभगत के नहीं चल सकते। अखिलेश ने कहा कि सरकार को मान लेना चाहिए कि अब वह राज्य को नहीं चला सकती।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब से हुई मौत के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राज्य की योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि विपक्ष द्वारा इन मामलों की जानकारी दी जा रही थी, लेकिन सरकार वक्त पर नहीं जागी, क्योंकि इस तरह के मामलों में सरकार खुद संलिप्त थी। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि अवैध शराब के धंधे बिना सरकार की मिलीभगत के नहीं चल सकते। अखिलेश ने कहा कि सरकार को यह स्वीकार कर लेना चाहिए कि अब वह राज्य को नहीं चला सकती।

उधर, उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। राज्य में अब तक 77 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं उत्तराखंड में अब तक 32 लोगों की जान जा चुकी है। दोनों राज्यों की बात करें तो मरने वालों की संख्या 109 हो गई है।

जहरीली शराब से मौत के बाद जागी योगी सरकार और उसका प्रशासन अवैध शराब बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई में जुटा है। लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। आबकारी विभाग ने दावा किया है कि घटना के बाद अब तक 297 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं, साथ ही 175 लोगों को गिरफ्तार किया है।

जहरीली शराब से मौत के बाद योगी की पुलिस पर मिलीभगत के आरोप लगे थे। सरकार ने आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की है। सिर्फ सहारनपुर में 10 पुलिस कर्मियों को निलंबित किया गया है। इसके अलावा राज्य सरकार जहरीली शराब बनाने और बेचने वालों पर राष्ट्रीय सुरक्षा एक्ट (रासुका) लगाने की तैयारी कर रही है। वहीं लोगों का कहना है कि अगर योगी सरकार और उसकी पुलिस वक्त पर कार्रवाई की होती तो आज यह नौबत नहीं आती।

लोकप्रिय