झारखंड सरकार को केंद्र के इशारे पर अपदस्थ करने की कोशिश? JMM-कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा में लगाए हाय-हाय के नारे

अभिभाषण शुरू होने के पहले कांग्रेस के विधायक प्रदीप यादव अपने आसान पर खड़े हो गए और आरोप लगाया कि झारखंड में जनता की चुनी हुई सरकार को केंद्र सरकार के इशारे पर अपदस्थ किया गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

झारखंड विधानसभा में सोमवार को मुख्यमंत्री चंपई सोरेन सरकार के फ्लोर टेस्ट के पहले राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान कांग्रेस और जेएमएम के विधायकों ने हेमंत सोरेन के समर्थन में लगातार नारेबाजी की। सदस्यों ने हेमंत सोरेन की सरकार को अपदस्थ किए जाने पर विरोध जताते हुए हाय-हाय के नारे लगाए।

अभिभाषण शुरू होने के पहले कांग्रेस के विधायक प्रदीप यादव अपने आसान पर खड़े हो गए और आरोप लगाया कि झारखंड में जनता की चुनी हुई सरकार को केंद्र सरकार के इशारे पर अपदस्थ किया गया है।

नारेबाजी के बीच राज्यपाल लगभग 35 मिनट तक अभिभाषण पढ़ते रहे। इस दौरान जेएमएम-कांग्रेस के सदस्यों ने हेमंत सोरेन को वापस लाओ, ईडी केस वापस लो, जय झारखंड, शिबू सोरेन जिंदाबाद, हेमंत सोरेन जिंदबाद, जेल का फाटक टूटेगा, हेमंत सोरेन छूटेगा के नारे गूंजते रहे।

इस दौरान सदन में मौजूद हेमंत सोरेन भी नारेबाजी कर सदस्यों के समर्थन में अपनी सीट पर खड़े रहे।


राज्यपाल ने कहा कि हमारी सरकार झारखंड के लोगों को एक स्वच्छ और साफ सुथरी सरकार देने को वचनबद्ध है। पिछले चार सालों में विधि व्यवस्था और लॉ एंड ऑर्डर में सुधार हुआ है। हमारा राज्य क्षेत्र में विकास के नये आयाम तय कर रहा है। भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार ने सख्त कदम उठाए हैं।

इसके अलावा उन्होंने सरकार द्वारा शिक्षा, रोजगार, पर्यटन, उद्योग सहित विभिन्न क्षेत्रों में किए गए कार्यों और उपलब्धियों का उल्लेख किया। अभिभाषण पर जेएमएम-कांग्रेस सदस्यों की नारेबाजी पर राज्यपाल मुस्कुराते रहे।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;