वापस भारत लाया जाएगा भगोड़ा मेहुल चोकसी, रद्द होगी एंटीगुआ की नागरिकता

एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा है कि मेहुल चोकसी को पहले एंटीगुआ की नागरिकता मिली हुई थी, जिसे अब रद्द किया जा रहा है। हम किसी भी ऐसे व्यक्ति को अपने देश में नहीं रख सकते, जिस पर किसी भी तरह के आरोप लगे हों।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पंजाब नेशनल बैंक के साथ करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी मामले में भगोड़े मेहुल चौकसी की दिक्कतें बढ़ गई हैं। वर्तमान में एंटीगुआ में रह रहे मेहुल के पास सभी कानूनी रास्ते अब समाप्त हो चुके हैं और उसका भारत वापस आना लगभग तय है। मेहुल चोकसी की एंटीगुआ की नागरिकता रद्द होने वाली है और जल्द ही उसे गिरफ्तार करके वापस भारत लाया जाएगा। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने खुद इस बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि वे जल्द ही मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द करने वाले हैं।

बता दें कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर पंजाब नेशनल बैंक के 13 हजार करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप था। हालांकि मेहुल चौकसी के भारत वापस आने में अभी कुछ समय और लग सकता है। सूत्रों के मुताबिक एंटीगुआ में मेहुल के खिलाफ सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद भारत सरकार अपने स्तर पर उसे वापस लाने की प्रक्रिया शुरू करेगी।

क्या बोले एंटीगुआ पीएम गैस्टन ब्राउन

एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा है कि मेहुल चोकसी को पहले एंटीगुआ की नागरिकता मिली हुई थी, जिसे अब रद्द किया जा रहा है और वापस भारत भेजा जा रहा है। पीएम ने कहा, ‘हम किसी भी ऐसे व्यक्ति को अपने देश में नहीं रख सकते, जिस पर किसी भी तरह के आरोप लगे हों।

उन्होंने कहा है कि मेहुल चोकसी से जुड़ा मामला अभी कोर्ट में है, इसलिए हमें पूरी प्रक्रिया का पालन करना होगा। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने इसको लेकर भारत सरकार को पूरी जानकारी दे दी है। हालांकि, मेहुल चोकसी को सभी कानूनी प्रक्रिया पूरा करने का समय दिया जाएगा।

हर बार इलाज का दे रहा हवाला

हाल ही में बॉम्बे हाई कोर्ट में दिए एक हलफनामे में चोकसी ने कहा था, ‘मैं फिलहाल एंटीगुआ में रह रहा हूं। मैं देश छोड़कर नहीं आया हूं बल्कि इलाज कराने के लिए देश से बाहर रह रहा हूं। मैं हर जांच में सहयोग करने को तैयार हूं। अगर कोर्ट इसे सही मानता है तो वो जांच अधिकारियों को एंटीगुआ भेजने का निर्देश दे सकता है।

लोकप्रिय