आजम खान बोले- बीजेपी वालों के साथ कल भी अदावत थी, आज भी है और मरने के बाद भी रहेगी

समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम ने कहा कि कांग्रेस वालों से तो लड़ाई नहीं थी, लेकिन बीजेपी वालों के साथ कल भी अदावत थी, आज भी अदावत है और मरने के बाद हमारी कब्र की भी अदावत रहेगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम ने कहा कि कांग्रेस वालों से तो लड़ाई नहीं थी, लेकिन बीजेपी वालों के साथ कल भी अदावत थी, आज भी अदावत है और मरने के बाद हमारी कब्र की भी अदावत रहेगी।

आजम खान शनिवार को रामपुर में कार्यकतार्ओं को संबोधित कर रहे थे। कहा कि हमारी कोई निजी लड़ाई नहीं है। इसलिए, हमारे आपस के रिश्तों में कोई खटास नहीं आनी चाहिए। जात और धर्म की बुनियाद पर कोई फर्क नहीं होना चाहिए। कहा कि हमने कभी किसी के साथ धर्म और जाति के नाम पर कोई फर्क नहीं किया। किसी के साथ ज्यादती नहीं की। मालूम नहीं कौन बीजेपी, बसपा, कांग्रेस का है। कांग्रेस वालों से तो लड़ाई नहीं थी, लेकिन बीजेपी वालों के साथ कल भी अदावत थी, आज भी अदावत है और मरने के बाद हमारी कब्र की भी अदावत रहेगी। वो भी उसूलों की बुनियाद पर।

उन्होंने सपा प्रत्याशी आसिम राजा के समर्थन में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि रामपुर को न सिर्फ हम दुनिया के नक्शे पर लेकर आए हैं। बल्कि, पूरी दुनिया जानती है कि रामपुर के साथ बहुत जुल्म हुआ है।

कहा कि हम सिर्फ एक बार विधानसभा में शपथ ग्रहण के लिए गए थे। वहां बीजेपी के वजीरों और एमएलए के सिर नहीं उठ रहे थे। उन्हें मालूम था कि वो मुझसे आंख नहीं मिला सकते। हम पर सिर्फ एक ही जुल्म रह गया था कि बची हुई जान निकाल लें।


आजम खां ने कहा कि कोई है ऐसा, जो ये कहे कि जाति की बुनियाद पर मैंने उससे फर्क किया है। आजम खां ने कहा कि अगर मेरी सियासत में भी जाति की बुनियाद पर कोई बहस होती है, तो मेरी सारी कुबार्नी, तकलीफें, सब बेकार हैं।

सपा नेता ने कहा कि हमारा दामन तो लोगों ने दागदार कर दिया है, जिसका जो जी चाहता है, हम पर इल्जाम लगा देता है। सपा प्रत्याशी आसिम राजा का जिक्र करते हुए कहा कि जिसने हर कदम पर हमारा साथ दिया। इस चुनाव से पहले के चुनाव में किस-किस बेइज्जती का सामना करना पड़ा इन्हें। कितनी बदतमीजियां हुई हैं इनके साथ। आज उस 40-42 साल की वफादारी के लिए हमें उस शख्श को अपने कांधों पर उठा लेना है और कामयाबी का परचम लहराकर साबित करना है कि जो फैसला हमने लिया वो इंशाअल्लाह कामयाब हुआ।


आजम खां पिछले लोकसभा और विधानसभा के चुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि वो सिर्फ दहशत का चुनाव था। लगता था कि लोकतंत्र है ही नहीं। आज भी लोकतंत्र कितना है आप मुझसे बेहतर जानते हैं। सपा नेता ने कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट के तारीखी फैसले न हुए होते, तो हमें आप यहां जिंदा नहीं पाते। सपा नेता ने कहा कि लोकसभा उपचुनाव के प्रत्याशी आसिम राजा का चुनाव उतने ही जोश खरोश के साथ लड़ाएं, जैसा मेरा लड़ाते हैं।

उन्होंने कहा किसी को सपा प्रत्याशी आसिम राजा से शिकायत हो, तो मैं माफी मांगता हूं। उन्होंने कहा हमारे सामने बहुत बड़ा मकसद है और हमारे मुकाबले में वो शख्श हैं, जिसको टिकट हेलीकॉप्टर से पहुंचाया था। एक मिठाई का दाना भी जीतने पे नहीं खाया था। मैं कभी किसी का काम हो जाए, तो उससे मिठाई नहीं लेता हूं और कहता हूं कि या तो इस काम का फिर ठीक से हिसाब करो। एक डिब्बे में हमें हजम नहीं होता, इसे ले जाओ।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Jun 2022, 4:05 PM