भारत जोड़ो यात्रा की कल से शुरुआत, कन्याकुमारी में सर्व धर्म प्रार्थना सभा से होगा आगाज, जानें क्या है इसका मकसद?

आजादी के 75 साल पूरे होने पर कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 7 सितंबर से शुरू हो रही है। इस दौरान पदयात्री 12 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आजादी के 75 साल पूरे होने पर कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 7 सितंबर से शुरू हो रही है। इस दौरान पदयात्री 12 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेंगे। इस 3500 किमी पदयात्रा का नेतृत्व राहुल गांधी करने वाले हैं। यह यात्रा सभी के लिए खुली है। दूसरे राजनीतिक दल, संस्थाएं और लोग भी पदयात्रा में आ सकते हैं। यात्रा में कांग्रेस का झंडा नहीं दिखेगा। इसके बजाए तिरंगा दिखेगा। तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू होकर यह यात्रा जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर तक जानी है। कन्याकुमारी में जहां से यह यात्रा शुरू हो रही है वहां सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है।

7 सितंबर को राहुल गांधी यात्रा से पहले सुबह 7 बजे श्रीपेरुमबुदुर स्तिथ राजीव गांधी मेमोरियल जाएंगे। इसके बाद कन्याकुमारी के गांधी मंडपम में एक सर्व धर्म प्रार्थना सभा होगी जहां तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन राहुल गांधी को तिरंगा सौंपेंगे और गांधी मंडपम से कुछ दूर स्थित सभास्थल तक सभी नेता पैदल जाएंगे।


दोपहर 3 बजे राहुल गांधी विवेकानंद स्मारक शिला, तिरुवल्लुवर मेमोरियल और कामराज मेमोरियल पहुंचेंगे और शाम 5 बजे एक सभा होगी, जहां से यात्रा शुरू करने का औपचारिक एलान कर दिया जाएगा। अगले दिन यानि 8 सितंबर को विवेकानंद इंस्टीट्यूट से सुबह 7 बजे से पदयात्रा शुरू होगी। यह पदयात्रा सुबह 3 घंटे चलेगी और फिर शाम 3:30 से 6:30 तक सभी यात्री यात्रा करेंगे, हर दिन रोज करीब 21 किलोमीटर की यात्रा होगी।

भारत जोड़ो यात्रा की कल से शुरुआत, कन्याकुमारी में सर्व धर्म प्रार्थना सभा से होगा आगाज, जानें क्या है इसका मकसद?

भारत जोड़ो यात्रा 11 सितंबर को केरल पहुंचेगी और 18 दिन केरल में रहने के बाद 30 सितंबर को कर्नाटक पहुंचेगी। यात्रा कर्नाटक में 21 दिन चलेगी। यात्रा में कुल 118 नेता पदयात्रा करेंगे। यात्रा के दौरान कुल 3,500 किलोमीटर लंबा सफर होगा। यह करीब 150 दिनों तक चलेगी। इस यात्रा को लेकर लोगों में उत्साह देखा जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी इसकी चर्चा है। कार्यक्रम स्थल पर लोगों की भारी भीड़ देखी जा रही है।


प्रियंका गांधी ने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ पर जारी किया वीडियो संदेश

वहीं एक वीडियो संदेश के जरिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यात्रा से जुड़े सभी सवालों का जवाब दिया है प्रियंका गांधी ने कहा, “आज भारत जोड़ो यात्रा की जरूरत क्या है? क्या यह देश एकजुट नहीं है? हम क्या जोड़ रहे हैं? इसका जवाब यह है कि आप जैसे करोड़ों देशवासी बहुत मेहनत करते हैं। कोई अपने घर में काम कर रहा है, कोई खेती में काम कर रहा है। कोई मजदूरी कर रहा है। कोई फैक्ट्री में काम कर रहा है। कोई सरकारी नौकरी कर रहा है। सभी मेहनत कर रहे हैं। मेहनत करते हुए इस देश को आगे बढ़ाना चाह रहे हैं, लेकिन जो राजनीतिक चर्चा हो रही है। वह आपके सवालों पर नहीं हो रही है। जिन समस्याओं और संघर्षों से आप जूझ रहे हैं उनके बारे में चर्चा नहीं हो रही है।”

भारत जोड़ो यात्रा का उद्देश्य

भारत जोड़ो यात्रा का मुख्य उद्देश्य देशभर के नागरिकों को जोड़ना है। इस यात्रा के माध्यम से समाज में के लिए बढ़ती हुई बेरोजगारी के विरुद्ध एवं कट्टरता और समाज में फैलते हुए असमताओ का विरोध करना है। भारत जोड़ो यात्रा के माध्यम से देश में एकता फैलाने का प्रयास किया जाएगा। देश के नागरिकों को भी एकजुट रहने के लिए प्रेरित किया जाएगा।


भारत जोड़ो यात्रा की टैगलाइन

  • बेरोजगारी का जाल तोड़ो, भारत जोड़ो

  • मिले कदम, जुड़े वतन

  • संविधान बचाएंगे, मिलकर भारत जोड़ेंगे

  • महंगाई से नाता तोड़ो, मिलकर भारत जोड़ो

  • नफरत छोड़ो, भारत जोड़ो

  • कदम से कदम मिलाएंगे, हम भारत को जोड़ते जाएंगे, हर चेहरे पर मुस्कान लौटाएंगे

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia