फेक न्यूज फैलाने वाले इन 6 यूट्यूब चैनलों पर बड़ी कार्रवाई, केंद्र सरकार ने किया बैन

प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) की फैक्ट चेक यूनिट ने छह यूट्यूब चैनलों का भंडाफोड़ किया था, जो भारत में एक समन्वित तरीके से काम कर रहे थे और गलत जानकारी फैला रहे थे।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने फेक न्यूज फैलाने वाले छह यूट्यूब चैनलों पर कार्रवाई की है। प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) की फैक्ट चेक यूनिट ने छह यूट्यूब चैनलों का भंडाफोड़ किया था, जो भारत में एक समन्वित तरीके से काम कर रहे थे और गलत जानकारी फैला रहे थे। फैक्ट चेक यूनिट ने इन चैनलों द्वारा फैलाई जा रही फर्जी खबरों का भंडाफोड़ करने के लिए 100 से ज्यादा फैक्ट चेक वाले छह अलग-अलग ट्विटर थ्रेड जारी किए।

मंत्रालय ने बताया कि कार्यवाही किए गए चैनलों के नाम नेशन टीवी, सरोकार भारत, नेशन 24, संवाद समाचार, स्वर्णिम भारत और संवाद टीवी है। भंडाफोड़ किए गए इन यूट्यूब चैनलों ने चुनावों, भारत के सर्वोच्च न्यायालय और भारत की संसद में कार्यवाही, भारत सरकार के कामकाज आदि के बारे में फर्जी खबरें फैलाईं हैं। उदाहरणों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों पर प्रतिबंध के बारे में झूठे दावे और झूठे बयान शामिल हैं।


एक अधिकारी ने बताया कि ये चैनल नकली, क्लिकबेट और सनसनीखेज थंबनेल और टीवी चैनलों के टेलीविजन समाचार एंकरों की छवियों का उपयोग कर दर्शकों को यह विश्वास दिला रहे थे कि यह समाचार प्रामाणिक थे। इन चैनलों के लगभग 20 लाख सब्सक्राइबर थे और उनके वीडियो को 51 करोड़ से अधिक बार देखा जा चुका है।

एक अधिकारी ने बताया कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के ओर से यह दूसरी ऐसी कार्रवाई है, जहां पूरे चैनलों का भंडाफोड़ किया गया है। ये छह चैनल एक समन्वित गलत सूचना नेटवर्क के हिस्से के रूप में काम करते पाए गए। मंत्रालय द्वारा अब इनके खिलाफ यूट्यूब से कार्यवाही करने को कहा जायेगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;