मेरठ में बीजेपी नेता की गुंडागर्दी, बाइक सवार दंपति को मारी टक्कर, विरोध करने पर महिला के फाड़े कपड़े

मेरठ के जागृति विहार निवासी दरोगा तेजबहादुर सिंह का बेटा अपनी पत्नी को लेकर डॉक्टर के क्लीनिक बाइक से जा रहा था। रास्ते में बाजेपी नेता दिग्विजय सिंह की गाड़ी ने बाइक में टक्कर मार दी। विरोध करने पर बीजेपी नेता और कार्यकर्ताओं ने महिला के कपड़े फाड़ डाले।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में बीजेपी नेता द्वारा खुलेआम गुंडागर्दी करने की घटना सामने आई है। बीजेपी नेता ने शहर के बीचों-बीच मेघदूत पुलिया पर सोमवार को बाइक में टक्कर लगने का विरोध करने पर दरोगा के बेटे और पुत्रवधु के साथ ना सिर्फ मारपीट की बल्कि पति के साथ बाइक सवार महिला के कपड़े भी फाड़ डाले। इसके बाद मामला इतना बढ़ गया कि दंपति ने शोर मचा कर गाड़ी को रुकवा लिया और महिला बीजेपी नेता की गाड़ी के आगे लेट गयी।

दरअसल मेरठ के जागृति विहार सेक्टर-6 निवासी दरोगा तेज बहादुर सिंह का बेटा प्रशांत वरुण अपनी पत्नी आरती को लेकर पीएल शर्मा रोड स्थित डॉक्टर के क्लीनिक बाइक से जा रहा था। रास्ते में सिविल लाइन थानाक्षेत्र के मेघदूत पुलिया स्थित चौराहे पर सामने से आ रही भाजपा नेता दिग्विजय सिंह की स्कार्पियो ने बाइक में टक्कर मार दी।

बाइक सवार दम्पति ने जब इस बात का विरोध किया तो दिग्विजय समेत दो बीजेपी कार्यकर्त्ताओं और गाड़ी में बुरका पहने एक महिला ने प्रशांत और उसकी पत्नी के साथ मारपीट की। इतना ही नहीं भाजपाइयों ने महिला ने कपड़े तक फाड़ डाले।

मारपीट और कपड़े फटने से प्रशांत और उसकी पत्नी का गुस्सा बढ़ गया। उन्होंने घटनास्थल पर हंगामा कर दिया। प्रशांत ने अपनी शर्ट निकाल कर पत्नी को पहनाई। गुस्से में प्रशांत की पत्नी दिग्विजय की गाड़ी के आगे लेट गयी, जिसके बाद चौराहे पर चारों तरफ जाम लग गया।

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दंपति को धमकाया

इस पूरे मामले के दौरान दिग्विजय के साथ बीजेपी कार्यकर्ता लगातार दम्पति को धमकियां देते रहे। कोई जाम लगने का हवाला देकर दंपती को धमका रहा था तो कोई कानून का पाठ पढ़ा रहा था। लेकिन इतनी धमकियों के बाद भी दरोगा की पुत्रवधू ने बहादुरी दिखाते हुए कहा कि चाहे जितने लोगों को बुला लो, वह तभी हटेगी, जब पुलिस आ जाएगी।

थाने में भी दंपती पर बनाया दबाव

दंपती के पक्ष में करीब 25 लोग थाने पहुंचे। वहीं भाजपा नेता के पक्ष में करीब 150 कार्यकर्ता आ गए। भाजपाइयों ने थाने में खूब हंगामा किया और पुलिस व पीड़ित दंपती पर दबाव बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। पुलिस भी दंपती को समझाने में लगी हुई थी कि कोई बात नहीं, फैसला कर लो। हम माफी भी मंगवा देंगे।

महिला बोली कि सरेआम उनके साथ मारपीट की गई और कपड़े फाड़े हैं। वह कतई समझौता नहीं करेंगे। बात सम्मान की है, जिसने जो किया, उसकी सजा मिलनी चाहिए। महिला नहीं मानी और भाजपा नेता दिग्विजय सिंह व एक महिला समेत पांच लोगों के खिलाफ मारपीट, छेड़खानी और एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कराया।

लोकप्रिय