कांग्रेस सरकार द्वारा पारित संकल्प के सहारे पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत में मिलाएगी मोदी सरकार!

जितेंद्र सिंह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुद्दे पर कहा, ‘”यह केवल मेरी या मेरी पार्टी की प्रतिबद्धता नहीं है बल्कि यह 1994 में पीवी नरसिंह राव के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा सर्वसम्मति से पारित संकल्प है। यह एक स्वीकार्य रुख है।”

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने मंगलवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद हमारा अगला एजेंडा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत में मिलाना है। मोदी सरकार में मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि पीओके भारत का हिस्सा है और पाकिस्तान ने उस पर अवैध तरीके से कब्जा कर रखा है। उन्होंने कहा कि पीओके को भारत में मिलने का फैसला सिर्फ हमारी पार्टी या हमारी सरकार की नहीं है। बल्कि 1994 में कांग्रेस सरकार ने भी इस पर प्रतिबद्धता जताई थी।

जितेंद्र सिंह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुद्दे पर कहा, ‘”यह केवल मेरी या मेरी पार्टी की प्रतिबद्धता नहीं है बल्कि यह 1994 में पीवी नरसिंह राव के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा सर्वसम्मति से पारित संकल्प है। यह एक स्वीकार्य रुख है।”

अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने पर पाकिस्तान की ओर से शुरू किए गए दुष्प्रचार अभियान पर बीजेपी के मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि विश्व का रुख भारत के पक्ष में है। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ देश जो भारत के रुख से सहमत नहीं थे, अब वे हमारे रुख से सहमत हैं।''

इंटरनेट सेवा बंद रखने के बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, ‘‘हम इसे जल्द से जल्द बहाल करना चाहते हैं। एक कोशिश की गई थी लेकिन सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो डाले जाने लगा और फैसले की दोबारा समीक्षा करनी पड़ी।'' उन्होंने कहा कि सरकार इन पाबंदियों को खत्म करने और इंटरनेट पर रोक हटाने को इच्छुक है। आतंकियों द्वारा आम लोगों की हत्या के बारे में उन्होंने कहा कि इसमें पाकिस्तान का हाथ है।

Published: 11 Sep 2019, 9:53 AM
लोकप्रिय