बीजेपी नेता को लेकर आपस में भिड़ी तीन राज्यों की पुलिस! जानें - बग्गा की गिरफ्तारी में कब क्या हुआ

दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी का मसला आज तीन राज्यों की पुलिस के लिए आफत बना गया। दिल्ली के जनकपुरी से सुबह करीब 8.15 बजे शुरू हुए पकड़म-पकड़ाई के खेल के 7 घंटे बाद बग्गा अब दिल्ली आ रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की उनके पश्चिमी दिल्ली स्थित आवास से गिरफ्तारी पर दावों और जवाबी प्रतिक्रिया के बाद दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को अपने पंजाब समकक्ष से उन्हें कुरुक्षेत्र में हिरासत में ले लिया और ट्रांजिट रिमांड के लिए स्थानीय अदालत में पेश करने के लिए वापस राष्ट्रीय राजधानी भेज दिया। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तारी के सिलसिले में पंजाब पुलिस के खिलाफ दो मामले दर्ज किए थे।

बग्गा के पिता की शिकायत पर दिल्ली पुलिस द्वारा अपहरण का मामला दर्ज करने के बाद हरियाणा पुलिस ने बीजेपी प्रवक्ता को चंडीगढ़ के पास मोहाली ले जा रही पंजाब पुलिस की टीम को बीच में ही रोक दिया। हरियाणा पुलिस बग्गा को कुरुक्षेत्र शहर के पास एक पुलिस स्टेशन ले गई जहां दिल्ली पुलिस की एक टीम पहुंची।


बग्गा की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए, पंजाब के महाधिवक्ता अनमोल रतन सिद्धू ने चंडीगढ़ में मीडिया को बताया कि राज्य सरकार पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर करने जा रही है क्योंकि 'हमारे पुलिस अधिकारियों को पिपली में हरियाणा पुलिस द्वारा अवैध रूप से हिरासत में लिया गया है।'

आर.के. राठौर, पंजाब पुलिस का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील ने आईएएनएस को बताया, "पहला मामला अपहरण की धाराओं के तहत दर्ज किया गया है, जबकि दूसरा मारपीट की धारा के तहत दर्ज किया गया है। तीसरा मामला बग्गा के पिता की शिकायत पर दर्ज किया गया है। दिल्ली पुलिस ने पंजाब के चार पुलिसकर्मी को हिरासत में लिया है और उन्हें जनकपुरी थाने ले गए।"


उन्होंने दावा किया कि सभी मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करते हुए पंजाब पुलिस ने दिल्ली पुलिस को मामले की जानकारी दी थी। आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं ने गिरफ्तारी का बचाव करते हुए कहा है कि पंजाब पुलिस निष्पक्ष तरीके से काम कर रही है और पांच बार नोटिस भेजे जाने के बाद भी बीजेपी प्रवक्ता द्वारा जांच में सहयोग करने से इनकार करने के बाद कार्रवाई की गई।

आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि उन्होंने बग्गा के बारे में जानकारी एकत्र की है, जिसके बारे में उनका दावा है कि वह सोशल मीडिया पर ' जहरीली और घृणित भाषा' का इस्तेमाल करता है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 06 May 2022, 5:41 PM