यशवंत सिन्हा का अपनी ही सरकार पर फिर हमला, कहा, कैश संकट के लिए सरकार और रिजर्व बैंक जिम्मेदार

यशवंत सिन्हा ने देश में कैश संकट पर सरकार और रिजर्व बैंक की आलोचना करते हुए कहा कि अगर नगदी की कमी 70 हजार करोड़ रुपये से 1 लाख करोड़ रुपये तक की है, तो यह चलन में मौजूद मुद्रा को देखते हुए ज्यादा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने अपनी पार्टी को एक बार फिर आईना दिखाया है। देश में कैश संकट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए यशवंत सिन्हा कहा कि यह संकट केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक के कुप्रबंधन की वजह से पैदा हुआ है। उन्होंने कहा मौजूदा संकट काफी बड़ा है, लेकिन रिजर्व बैंक के पास इससे निपटने के लिए कोई वैकल्पिक योजना नहीं है।

एक न्यूज़ चैनल के इंटरव्यू में यशवंत सिन्हा ने कहा कि मुद्रा वितरण का खराब प्रबंधन है। उन्होंने कैश संकट को लेकर सरकार और रिजर्व बैंक की कड़ी आलोचना की और कहा कि किसी ने भी जनता को इसके बारे में नहीं चेताया। सिन्हा ने कहा कि अगर नगदी की कमी 70 हजार करोड़ रुपये से 1 लाख करोड़ रुपये तक की है, तो यह चलन में मौजूद मुद्रा को देखते हुए बहुत ज्यादा है।

यह कोई पहला मामला नहीं है जब यशवंत सिन्हा ने अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। इससे पहले नोटबंद और किसानों की परेशानियों समेत कई मुद्दों को लेकर वे अपनी ही सरकार पर निशाना साध चुके हैं। कुछ दिन पहले ही यशवंत सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए बीजेपी सांसदों के नाम एक पत्र लिखा था। मोदी सरकार को सभी मोर्चे पर विफल बताते हुए उन्होंने सांसदों से आवाज उठाने की अपील की थी।

Published: 20 Apr 2018, 11:24 AM
लोकप्रिय