फ्लाइट में अपने मन मुताबिक सेवा न मिलने पर भड़कीं बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर, विमान के अंदर ही दिया ‘धरना’

भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने दिल्ली से भोपाल जाने के लिए जेट एयरवेज की फ्लाइट ली थी। विमान में पसंद की सीट न मिलने पर प्रज्ञा ठाकुर ने हंगामा खड़ा कर दिया और भोपाल के राजा भोज हवाईअड्डे के निदेशक के पास विमान कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाली बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर चर्चा में हैं। जेट एयरवेज एयरलाइंस में अपने मन मुताबिक सेवा न मिलने पर प्रज्ञा ठाकुर कंपनी के स्टाफ पर बुरी तरह भड़क गई और फ्लाइट की उड़ान के दौरान ही उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। साध्वी प्रज्ञा ने विमान की क्रू मेंबर पर गलत व्यवहार का भी आरोप लगाया। प्रज्ञा का गुस्सा इतना बढ़ गया कि फ्लाइट लैंड करने के बाद भी वे अपनी सीट पर बनी रहीं और काफी आग्रह के बाद विमान से बाहर आईं।

दरअसल मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने दिल्ली से भोपाल जाने के लिए जेट एयरवेज की फ्लाइट ली थी। उड़ान भरने के बाद साध्वी ने हंगामा खड़ा कर दिया। सूत्रों ने बताया कि उन्होंने दिल्ली से उड़ान एसजी 2489 से उतरने के बाद राजा भोज हवाईअड्डे के निदेशक के पास स्पाइस जेट के कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया।

उन्होंने कहा कि विमान के लैंड करने के बाद कुछ देर तक प्रज्ञा नहीं उतरीं और सीट पर बनी रहीं। आग्रह करने पर वे आखिरकार उतरीं और शिकायत दर्ज कराई। धरने के बारे में पूछने पर प्रज्ञा ने संवाददाताओं से कहा, "मैंने उड़ान में धरना नहीं दिया।"

प्रज्ञा ने संवाददाताओं से कहा, "मैंने प्रशासन को जानकारी दे दी है। स्पाइस जेट के विमानकर्मी यात्रियों से उचित व्यवहार नहीं करते हैं। उनका व्यवहार पहले भी ठीक नहीं था। मेरे साथ भी आज यही हुआ।"


उन्होंने कहा, "उन्होंने मुझे आवंटित सीट नहीं दी। मैंने उन्हें नियम दिखाने के लिए कहा। मैंने निदेशक से बात की और उनके पास शिकायत दर्ज कराई।"

उधर हवाईअड्डा के निदेशक अनिल विक्रम ने अपने बयान में कहा, "हमें सीट आवंटन के संबंध में उनकी तरफ से शिकायत मिली है। हम सोमवार को मामले की जांच करेंगे।"

बता दें कि महाराष्ट्र के मालेगांव बम ब्लास्ट मामले में आरोपी प्रज्ञा ठाकुर लोकसभा चुनाव के दौरान और बाद में अपने कई विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में आई थीं। लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था, जिसके बाद पूरे देश में उनकी खूब किरकिरी हुई थी। प्रज्ञा के इस बयान की कड़ी निंदा करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि वे उन्हें दिल से माफ नहीं कर पाएंगे। हाल ही में उन्हें रक्षा मंत्रालय की कमिटी में शामिल किए जाने को लेकर विपक्ष ने खूब हंगामा किया था।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia