अपनी ही पार्टी के विपरीत चल रहीं बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर, कहा- नाली-शौचालय साफ करवाने के लिए नहीं बनी सांसद

मध्य प्रदेश में अपने सीहोर दौरे पर आई बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने लोगों से कहा कि मुझसे वो काम करवाइए जिसके लिए मैं सांसद बनी हूं। मैं आप सभी की समस्याएं सुनकर उन्हें लोकसभा में उठाने के लिए सांसद बनी हूं न कि नाली और शौचालयों की सफाई के लिए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पिछले कई सालों से ‘स्वच्छ भारत’ का नारा लगाने वाली बीजेपी सरकार के नेता स्वच्छता अभियान के तहत सड़कों और गलियों में झाड़ू लगाते हुए दिखाई दे जाते हैं। लेकिन भारतीय जनता पार्टी की नयी नवेली सांसद प्रज्ञा ठाकुर अपनी ही पार्टी की इस विचारधारा से एकदम उलट चल रही हैं। साध्वी प्रज्ञा ने अपने एक बयान में कहा है कि वे झाड़ू लगाने, नालियों या शौचालयों की सफाई करने के लिए सांसद नहीं बनी हैं।

दरअसल मध्य प्रदेश में अपने सीहोर दौरे पर आई बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने लोगों से कहा कि मुझसे वो काम करवाइए जिसके लिए मैं सांसद बनी हूं। मैं आप सभी की समस्याएं सुनकर उन्हें लोकसभा में उठाने के लिए सांसद बनी हूं न कि नाली और शौचालयों की सफाई के लिए।

प्रज्ञा ने कहा, “आप ऐसा सांसद चाहते हैं क्या? ध्यान रखो हम नाली साफ करवाने के लिए नहीं बने हैं। हम आपके शौचालय साफ करने के लिए बिलकुल नहीं बनाए गए हैं। हम जिस काम के लिए बने हैं, वो काम ईमानदारी से करेंगे। ये हमारा पहले भी कहना था, अब भी कह रहे हैं और आगे भी कहेंगे।

बता दें कि देश में लोकसभा चुनाव के दौरान महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने के बाद भी साध्वी प्रज्ञा विवादों में फंस गयी थीं। उनके बयान पर बीजेपी ने कहा था कि इससे पार्टी की विचारधारा का कोई लेना देना नहीं है। हालांकि अपने इस बयान पर प्रज्ञा को बाद में माफी भी मंगनी पड़ी थी।

साध्वी के इस बयान के बाद पीएम मोदी ने कहा था कि वे उन्हें दिल से कभी माफ नहीं करेंगे। इस बयान के बाद से कई बार ऐसा देखने को मिला जब पीएम मोदी समेत कई बीजेपी नेताओं ने उनकी अनदेखी की थी।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर मुंबई के मालेगांव बम धमाके करने का आरोप है। लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमलों में शहीद हुए मुंबई एटीएस के चीफ रहे हेमंत करकरे को लेकर भी अपमानित बयान दिया था।

लोकप्रिय