बीजेपी सांसद के बिगड़े बोल, CAA-NRC का विरोध करने वाले बौद्धिक लोगों को बताया TMC का ‘कुत्ता’

बीजेपी सांसद सौमित्र खान ने कहा कि जो लोग सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं वह टीएमसी के ‘कुत्ते’ हैं। उन्होंने कहा कि यह वही लोग हैं जो कामदूनी और पार्क स्ट्रीट में हुए सामूहिक बलात्कार पर चुप रहे और बम विस्फोट की घटनाओं पर उन्होंने कुछ नहीं कहा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में नागरिकात संशोधन कानून और एनआरसी का विरोध जारी है। सीएए और एनआरसी का विरोध करने वालों को लेकर एक बार फिर बीजेपी की ओर से शर्मनाक बयान आया है। यह बयान बीजेपी सांसद सौमित्र खान ने दिया है। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट में सौमित्र खान ने मीडिया से बात करते हुए सीएए और एनआरसी का विरोध करने वाले बौद्धिक लोगों को टीएमसी का कुत्ता करार दिया है।

बीजेपी सांसद सौमित्र खान ने कहा, “जो लोग सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं वह टीएमसी के 'कुत्ते' हैं। यह वही लोग हैं जो कामदूनी और पार्क स्ट्रीट में हुए सामूहिक बलात्कार पर चुप रहे और बम विस्फोट की घटनाओं पर उन्होंने कुछ नहीं कहा।”


18 जनवरी को बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने विवादित बयान दिया था। उनिहोंने कहा था कि जो बुध्दिजीवी नागरिकता संशोधित कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं वह शैतान और कीड़े हैं। इससे पहले भी दिलीप घोष ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर विवादित बयान देते हुए कहा था, “नागरिकता कानून को लेकर हिंसक प्रदर्शनों के दौरान जिस तरह उत्तर प्रदेश में उपद्रवियों को गोली मारी गई, उसी तरह वह बंगाल में भी अराजक तत्वों को कुत्तों की तरह गोली मारेंगे।”

बंगाल बीजेपी अध्यक्ष ने कहा था, “अगर हम सत्ता में आए तो देश विरोध लोग जो सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाते हैं, उनको लाठियों से मारेंगे, गोली मारेंगे और जेल भेजेंगे।” उन्होंने आगे कहा था, “जो लोग संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहे है क्या ये उनके पिता की संपत्ति है। प्रदर्शनकारी टैक्स देने वालों के पैसों से बनी सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान कैसे पहुंचा सकते हैं। उत्तर प्रदेश, असम और कर्नाटक सरकार ने देश विरोधी तत्वों पर गोली चलाकर बिल्कुल सही किया।” प्रदर्शनकारियों को कुत्ते की तरह गोली मारने वाले बयान को लेकर उनके खिलाफ दो और एफआइआर दर्ज कराई गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 20 Jan 2020, 10:05 AM