सीएजी ने खोला केजरीवाल सरकार का राशन घोटाला, स्कूटर-बाइक से दिल्ली में ढोया अनाज

दिल्ली में सरकारी राशन वितरण को लेकर बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। सीएजी रिपोर्ट के मुताबिक, बहुचर्चित चारा घोटाले की तरह यहां भी बाइक-स्कूटर और टेम्पो से करोड़ों का अनाज ढोने का मामला सामने आया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिल्ली की केजरीवाल सरकार में राशन वितरण में बड़ी अनियमितता का मामला उजागर हुआ है। सीएजी रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले की तर्ज पर दिल्ली में भी बाइक-स्कूटर और टेम्पो पर करोड़ों रुपये का अनाज ढोया गया। सीएजी रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में एफसीआई गोदाम से राशन वितरण केंद्रों तक 1589 क्विंटल राशन की ढुलाई के लिए जिन गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया, उनमें आठ ऐसी गाड़ियों भी थीं, जिनका रजिस्ट्रेशन नंबर स्कूटर-बाइक, बस और टेम्पो का था।

सीएजी ने खोला केजरीवाल सरकार का राशन घोटाला, स्कूटर-बाइक से दिल्ली में ढोया अनाज

जाहिर है कि इन गाड़ियों पर इतनी बड़ी मात्रा में अनाज की ढुलाई नहीं हो सकती है। सीएजी रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि 2016-17 में जिन 207 गाड़ियों को राशन ढुलाई के काम में लाया गया, उनमें से 42 के रजिस्ट्रेशन ही नहीं हैं। यह खुलासा दिल्ली विधानसभा में पेश सीएजी रिपोर्ट से हुआ है। रिपोर्ट से केजरीवाल सरकार पर सवाल खड़े हो गए हैं। सूत्रों के अनुसार सीएजी रिपोर्ट में 50 से ज्यादा ऐसे मामले हैं, जिनमें नियमों को ताक पर रखकर गड़बड़ी को अंजाम दिया गया। जिनके आधार पर सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में संदेह जताया है कि राशन का वितरण हुआ ही नहीं और राशन चोरी की आशंका को नकारा नहीं जा सकता है।

घोटाले की बात सामने आते ही दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि सीएजी द्वारा उजागर भ्रष्टाचार या अनियमितता के हर मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

हालांकि, केजरीवाल ने ट्वीट कर दिल्ली के एलजी पर भी निशाना साधा है। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा कि घर-घर राशन की डिलीवरी की योजना को खारिज कर एलजी ऐसी गड़बड़ियों को संरक्षण देने की कोशिश कर रहे हैं। पूरी राशन प्रणाली माफिया की जद में है, जिन्हें राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है। जबकि घर-घर डिलीवरी से ये माफिया खत्म हो जाते।

वहीं, दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है।

इस खुलासे के बाद दिल्ली की राजनीति गर्मा गई है। दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता और बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि जो लोग भ्रष्टाचार को मिटाने का दावा करते थे, उनकी नाक के नीचे यह सब कुछ हो रहा है। उन्होंने कहा कि अगर ये कहा जाए कि इसमें सरकार की मिलीभगत है, तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। गुप्ता ने ट्वीट किया, “केजरीवाल सरकार को अंतरिम सीएजी रिपोर्ट सितंबर 2017 में इंगित भ्रष्टाचार के मामलों पर जवाब के लिए मिल गई थी। तब जवाब में बचाव किया गया और अब जनता के सामने आने पर कार्यवाही की बात कर रहे हैं।हाथी के दांत खाने के और, दिखाने के ओर”

वहीं कांग्रेस ने इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। दिल्ली कांग्रेस के नेता जेपी अग्रवाल ने कहा कि बाइक और स्कूटर से अनाज की ढुलाई इस बात की ओर इशारा करती है कि राशन लोगों तक पहुंचा ही नहीं। इस घोटाले की जांच सीबीआई से करायी जानी चाहिए। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने भी इस मामले को लेकर अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है।

वहीं, आम आदमी पार्टी विधायक और दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने सीएजी रिपोर्ट में हुए खुलासे को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। कपिल मिश्रा ने सिलसिलेवार ट्वीट में आरोप लगाया कि “केजरीवाल सरकार में 1800 करोड़ रुपये का राशन घोटला हुआ। हजारों टन राशन की ढुलाई ट्रकों की जगह स्कूटर और बाइक से दिखाई गई है। लालू यादव स्टाइल में घोटाला किया गया। सीएजी रिपोर्ट के अनुसार हर विभाग में करोड़ों की घोटाला किया गया।”

Published: 4 Apr 2018, 3:23 PM
लोकप्रिय