MSP खत्म करने की केंद्र की भयावह योजना है, असली लड़ाई अभी बाकी: सिद्धू

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने रविवार को कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ अपनी जीत से किसान खुश हैं, लेकिन न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को समाप्त करने की केंद्र की भयावह योजना का असली काम अब शुरू हुआ है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने रविवार को कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ अपनी जीत से किसान खुश हैं, लेकिन न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को समाप्त करने की केंद्र की भयावह योजना का असली काम अब शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए खाद्य सुरक्षा खत्म करने और सरकारी खरीद का प्रस्ताव है।

ट्वीट करके सिद्धू ने कहा, "आज, हम केंद्र के तीन काले कानूनों के खिलाफ हमारी जीत की खुशी मना रहे हैं... हमारा वास्तविक काम अब शुरू हुआ है। केंद्र सरकार की कृषि कानूनों के बिना एमएसपी को समाप्त करने, गरीबों के लिए खाद्य सुरक्षा समाप्त करने, सरकारी खरीदारी समाप्त करने और पीडीएस को समाप्त करने की कुटिल साजिश जारी रहेगी। यह योजना अब गोपनीय होगी और अधिक खतरनाक होगी।"


उन्होंने कहा, "खरीद, भंडारण और खुदरा क्षेत्र को निजी पूंजीपतियों के हाथों में सौंपने की केंद्र की योजना अब भी जारी है... एमएसपी विधेयक को लेकर केंद्र ने कुछ नहीं कहा है। हम जून 2020 की स्थिति में वापस लौट आए हैं। छोटे किसानों को कॉरपोरेट अधिग्रहण से बचाने के लिए पंजाब सरकार के समर्थन की जरूरत है - पंजाब मॉडल ही एकमात्र रास्ता है!!"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के सरकार के फैसले की घोषणा करते हुए कहा कि ऐसा करने के लिए संवैधानिक प्रक्रिया संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में पूरी हो जाएगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia