कुमार विश्वास को 'वाई' श्रेणी की सुरक्षा, जानें गृह मंत्रालय ने क्यों लिया ये फैसला

केंद्र ने आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास को 'वाई' श्रेणी की वीआईपी सुरक्षा प्रदान की है। सरकारी सूत्रों ने यहां शनिवार को यह जानकारी दी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

केंद्र ने आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास को 'वाई' श्रेणी की वीआईपी सुरक्षा प्रदान की है। सरकारी सूत्रों ने यहां शनिवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने कहा कि गहन समीक्षा और खुफिया सूचनाओं के आधार पर केंद्र ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) कवर के साथ विश्वास को वीआईपी सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला किया है।

दरअसल, कुमार विश्वास ने बुधवार को अपने पूर्व साथी अरविंद केजरीवाल पर बड़ा आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि केजरीवाल पंजाब में अलगाववादियों के बड़े समर्थक थे। कुमार ने कहा कि केजरीवाल ने एक बार उनसे कहा था कि वे या तो पंजाब के मुख्यमंत्री बनेंगे या स्वतंत्र राष्ट्र खालिस्तान के पहले प्रधानमंत्री बनेंगे।


अपने ऊपर लगे आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि वह दुनिया के सबसे प्यारे आतंकवादी (स्वीट टेररिस्ट) हैं, जो अस्पताल, स्कूल, बिजली आदि मुहैया कराते हैं। हाल ही में, एक वीडियो क्लिप वायरल हुई है, जिसमें आप के पूर्व नेता कुमार विश्वास ने आरोप लगाया कि केजरीवाल या तो पंजाब का मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं या एक अलग खालिस्तान देश के प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं।


विश्वास ने आरोप लगाया कि आप प्रमुख को 2017 के पंजाब विधानसभा चुनावों के दौरान अलगाववादी तत्वों से मिलते भी देखा गया था। चुनाव आयोग ने बुधवार को वीडियो क्लिप के प्रसार पर प्रतिबंध लगा दिया, लेकिन गुरुवार को प्रतिबंध हटा लिया। आप ने वीडियो को 'झूठा, भ्रामक और प्रतिद्वंद्वी दलों की करतूत' करार दिया।


घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए, केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा, "यह क्या कॉमेडी है। अगर उनके आरोपों पर विश्वास किया जाए, तो मैं एक बड़ा आतंकवादी हूं और अगर ऐसा है, तो पिछले 10 वर्षों में सुरक्षा एजेंसियां क्या कर रही थीं?" "मुझे कवि (कुमार विश्वास) को मेरी पहचान कराने के लिए धन्यवाद देना चाहिए, मैं दुनिया का सबसे प्यारा आतंकवादी होंगा, एक ऐसा आतंकवादी, जो स्कूल, अस्पताल, बिजली, सड़क, पानी मुहैया कराता है।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia