'शक्तिशाली नेताओं को दबाने के लिए आईटी और ईडी का इस्तेमाल कर रही केंद्र सरकार', डी.के. सुरेश का बड़ा आरोप

डी.के. सुरेश ने कहा, ऐसा चुनाव के दौरान ताकतवर नेताओं का मनोबल गिराने के लिए किया जा रहा है। जिन राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं, उन राज्यों में केंद्रीय बीजेपी सरकार के निर्देशों के अनुसार, आईटी और ईडी के छापे और कार्रवाई की जाती है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी सरकार पर आईटी और ईडी के जरिए विपक्षी नेताओं को परेशान करने के आरोप लगते रहे हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार को हाल ही में भेजे गए नोटिस पर प्रतिक्रिया देते हुए पार्टी सांसद डी.के. सुरेश ने मंगलवार को कहा कि यह चुनाव के समय शक्तिशाली नेताओं को दबाने की चाल है।

पत्रकारों से बात करते हुए, बेंगलुरु ग्रामीण सांसद ने कहा, ऐसा चुनाव के दौरान ताकतवर नेताओं का मनोबल गिराने के लिए किया जा रहा है। जिन राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं, उन राज्यों में केंद्रीय बीजेपी सरकार के निर्देशों के अनुसार, आईटी और ईडी के छापे और कार्रवाई की जाती है। यह एक सामान्य घटना है।


विधानसभा सदस्य के रूप में शिवकुमार को जांच में शामिल होना होगा। उसे कानूनी ढांचे के भीतर होना चाहिए। परिस्थिति कैसी भी हो, एफआईआर दर्ज करना, तलब करना या किसी भी तरह से परेशान करना, शिवकुमार तैयार हैं।

सुरेश ने आगे कहा कि जब कोई गलती नहीं होती तो डरने का सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने दोहराया, जांच के लिए पूरा सहयोग दिया जाएगा। हम किसी भी मामले का सामना करने के लिए तैयार हैं। ईडी ने शिवकुमार के साथ सुरेश को भी नई दिल्ली तलब किया है।

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान शिवकुमार को भेजे गए ईडी के नोटिस पर भी बहस हुई थी।
शिवकुमार ने कहा था कि उन्हें जानबूझकर नई दिल्ली बुलाया गया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia