हेरल्ड हाउस पहुंचे छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, समूह के पत्रकारों से की चर्चा

छत्तीसगढ़ के नवनिर्वाचित सीएम भूपेश बघेल शनिवार को राजधानी दिल्ली में नवजीवन के दफ्तर हेरल्ड हाउस पहुंचे। इस दौरान उन्होंने नवजीवन, नेशनल हेरल्ड और कौमी आवाज के पत्रकारों से बातचीत में कई मुद्दों पर अपने विचार रखे और अपनी भावी योजनाओं के बारे में भी बताया

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

नवजीवन डेस्क

छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री बनने के बाद राजधानी दिल्ली पहुंचे सीएम भूपेश बघेल ने शनिवार को आईटीओ स्थित हेरल्ड हाउस का दौरा किया। नवजीवन, कौमी आवाज, नेशनल हेरल्ड के दफ्तर हेरल्ड हाउस में बघेल ने अखबार समूह के पत्रकारों से लंबी चर्चा की और उनके साथ अपनी एकजुटता प्रदर्शित की। बातचीत के दौरान उन्होंने नवजीवन और नेशनल हेरल्ड को छत्तीसगढ़ से प्रकाशित करने का भी निमंत्रण दिया।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

बता दें कि नवजीवन अखबार की शुरुआत महात्मा गांधी ने की थी, लेकिन उनके जेल चले जाने के बाद पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उनकी अनुमति से इसका एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के जरिये नवंबर 1947 से नवजीवन का फिर से प्रकाशन शुरु किया।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

हेरल्ड हाउस मे सीएम भूपेश बघेल ने हेरल्ड समूह के पत्रकारों से मुलाकात के दौरान कहा कि सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ रहे पत्रकारों के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि देश को इस समय सत्ता में बैठे लोगों की घृणा, असहिष्णुता और बदले की भावना के मजबूत जवाब की सख्त जरूरत है।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

मुलाकात के दौरान हेरल्ड समूह की सलाहकार संपादक मृणाल पांडे और प्रधान संपादक जफर आगा ने छत्तीसगढ़ सीएम को ‘संडे नवजीन’ और नेशनल हेरल्ड का ताजा अंक भेंट किया। सीएम बघेल को महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर प्रकाशित संडे नवजीवन का विशेष अंक भी भेंट किया गया।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

अपने इस दौरे के बारे में ट्वीट करते हुए भूपेश बघेल ने ट्वीट करते हुए लिखा, “हेरल्ड समूह के दफ्तर पहुंचकर आत्मिक संतोष मिला। 'नवजीवन' और 'नेशनल हेराल्ड' हमारी सांस्कृतिक और राजनीतिक विरासत की मिसाल हैं और हम इसके खिलाफ हर षड़यंत्र को नाकाम करेंगे। मृणाल पांडे, जफर आगा और पूरी टीम के जज्बे को सलाम।”

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के हाल में आए नतीजों में कांग्रेस की प्रचंड जीत का श्रेय काफी हद तक सीएम बघेल को ही जाता है, जिन्होंने बीजेपी और आरएसएस की धन-बल के जवाब में राज्य भर में पदयात्राएं कर जनभावनाओं पर उन्हें हावी नहीं होने दिया। उन्होंने कड़ी मेहनत से राज्य में पार्ट के संगठन को मजबूती से खड़ा किया और अधिकांश चुनावी भविष्यवाणियों के उलट कांग्रेस को विधानसभा में दो-तिहाई बहुमत दिलाया।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

मुलाकात के दौरान बातचीत में बघेल ने 1992 में बाबरी मस्जिद ध्वंस को याद करते हुए कहा कि उस समय मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस का अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने राज्य में शांति और सांप्रदायिक सौहार्द्र बनाए रखने के लिए 300 किमी की पदयात्रा की थी।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

इस दौरान बघेल ने छत्तीसगढ़ को लेकर अपनी सोच से भी अवगत कराया। उन्होंने कहा कि राज्य के लिए कांग्रेस के पास एक विजन है, जिसमें सभी वर्गों को लेकर साथ आगे बढ़ने का सपना है।

Published: 22 Dec 2018, 4:46 PM
लोकप्रिय