मोदी सरकार के ताजा दावे पर चिदंबरम का तंज, बोले- लगता है चोर ने सरकार को लौटा दिया राफेल का दस्तावेज

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने शुक्रवार को यह दावा किया था कि राफेल से जुड़े दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी नहीं हुए हैं। अटॉर्नी जनरल ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किए गए जवाब में उनका मतलब था कि याचिकाकर्ताओं ने फोटोकापी का इस्तेमाल किया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

राफेल डील से जुड़े दस्तावेज चोरी होने को लेकर मोदी सरकार के ताजा दावे पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने तंज कसा है। चिदंबरम ने कहा कि लगता है चोर ने सरकार को राफेल का दस्तावेज लौटा दिया है।

पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट कर लिखा, “बुधवार को सरकार ने कहा कि दस्तावेज चोरी हो गए। शुक्रवार को कहा कि दस्तावेजों की फोटो कॉपी चोरी हुई है। मुझे लगता कि बीच में गुरुवार को चोर ने दस्तावेज लौटा दिए।”

चिदंबरम ने आगे लिखा, “मैं सरकार की समझ को सलाम करता हूं।”

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल की ओर से शुक्रवार को यह दावा किया गया था कि राफेल से जुड़े दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी नहीं हुए हैं। अटॉर्नी जनरल ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किए गए जवाब में उनका मतलब था कि याचिकाकर्ताओं ने फोटोकापी का इस्तेमाल किया।

अटॉर्नी जनरल ने अपने दावे कहा था कि राफेल डील की गोपनीय फाइल चोरी नहीं हुई हैं, बल्कि वह कोर्ट में यह कहना चाह रहे थे उसकी फोटोकॉपी करवाई गई है। उन्होंने कहा कि डील की जांच की मांग करने वाले याचिकाकर्ताओं ने दस्तावेज की फोटोकॉपी का इस्तेमाल किया था।

वेणुगोपाल ने आगे कहा, “मुझे पता चला है कि विपक्ष आरोप लगा रहा है कि मैंने सुप्रीम कोर्ट में रक्षा मंत्रालय से राफेल के दस्तावेज चोरी होने की बात कही है। यह कहना कि मैंने कहा है कि दस्तावेज चोरी हो गए, पूरी तरह से गलत है।”

इससे पहले बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार का पक्ष रखते हुए वेणुगोपाल ने कहा था कि राफेल डील से जुड़े गोपनीय दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी हो गए हैं, और डील की जांच की मांग कर रहे याचिकाकर्ता उसी दस्तावेज का इस्तेमाल कर रहे हैं और उसी दस्तावेज के आधार पर अखबार में खबर भी छापी गई।

लोकप्रिय