केंद्र का बड़ा फैसला: 12 साल से ऊपर के बच्चों को भी लगेगा कोरोना का टीका, बुजुर्गों को बूस्टर डोज पर भी बड़ा फैसला

केंद्र सरकार ने वैज्ञानिक निकायों के साथ विचार-विमर्श के बाद 16 मार्च से 12-14 वर्ष आयु वर्ग के लिए कोविड टीकाकरण शुरू करने का निर्णय लिया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

केंद्र सरकार ने वैज्ञानिक निकायों के साथ विचार-विमर्श के बाद 16 मार्च से 12-14 वर्ष आयु वर्ग के लिए कोविड टीकाकरण शुरू करने का निर्णय लिया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, "2008, 2009 और 2010 में पैदा हुए किशोरों या जो पहले से ही 12 वर्ष से अधिक आयु के हैं, उन्हें 16 मार्च से कोविड के टीके लगाए जाएंगे। कोविड -19 वैक्सीन हैदराबाद स्थित बायोलॉजिकल ई द्वारा निर्मित कॉर्बेवैक्स होगा।"


सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि 60 वर्ष से अधिक आयु की आबादी के लिए कोविड-19 प्रिकॉशन डोज के लिए को-मोर्बिडी की स्थिति को तुरंत हटा दिया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने एक ट्वीट में कहा कि बच्चे सुरक्षित हैं तो देश सुरक्षित हैं।


उन्होंने कहा, "बच्चे सुरक्षित तो देश सुरक्षित! मुझे बताते हुए खुशी है की 16 मार्च से 12 से 13 व 13 से 14 आयुवर्ग के बच्चों का कोविड टीकाकरण शुरू हो रहा है। साथ ही 60 से अधिक आयु के सभी लोग अब प्रिकॉशन डोज लगवा पाएंगे। मेरा बच्चों के परिजनों व 60 प्लस आयुवर्ग के लोगों से आग्रह है की वैक्सीन जरूर लगवाएं।"

मंत्रालय ने कहा कि 14 साल से अधिक उम्र के लोगों को पहले से ही चल रहे टीकाकरण अभियान के तहत टीका लगाया जा रहा है। मंत्रालय ने कहा, "इसलिए, 16 मार्च 2022 से, 60 वर्ष से अधिक आयु की पूरी आबादी कोविड वैक्सीन की एहतियाती खुराक के लिए पात्र होगी।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 14 Mar 2022, 3:52 PM