महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के लिए LJP ने बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार, चिराग बोले-...

बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए की घटक दल एलजेपी ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लेने के बाद महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने को लेकर बीजेपी की निंदा की है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए की घटक दल एलजेपी ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लेने के बाद महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने को लेकर बीजेपी की निंदा की है। एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने मंगलवार को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और कहा कि यह दुखद है कि बीजेपी-शिवसेना ने अपनी-अपनी महत्वाकांक्षाओं के लिए सरकार नहीं बनाई।

चिराग ने ट्वीट किया, "महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू करना दुर्भाग्यपूर्ण है। लोगों ने एनडीए को जनादेश दिया था। यह दुखद है कि पार्टियों ने अपनी-अपनी महत्वाकांक्षाओं के लिए सरकार नहीं बनाई।"

चिराग की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब उनकी पार्टी ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। चिराग पासवान ने पिछले ही सप्ताह पार्टी की कमान अपने पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से अपने हाथों में ली है। वह पिछले कुछ दिनों से बीजेपी की आलोचना कर रहे हैं।

इसके पहले सोमवार को उन्होंने पटना में संवाददाताओं से कहा था कि उनकी पार्टी टोकन के रूप में सीटें स्वीकार नहीं करेगी। एलजेपी नेता के अनुसार, पार्टी राज्य में छह सीटें मांग रही है, जहां 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक पांच चरणों में चुनाव होने हैं।

चिराग ने मंगलवार सुबह स्पष्ट किया कि उनकी पार्टी झारखंड में अकेले चुनाव लड़ेगी और 50 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। पार्टी ने पहले चरण के चुनाव के लिए पांच उम्मीदवारों की बाद में घोषणा भी की।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय