हैदराबाद गैंगरेप के खिलाफ आम लोगों से लेकर बॉलीवुड तक में उबाल, दिल्ली में सड़कों पर उतरी यूथ कांग्रेस

हैदराबाद गैंगरेप और निर्मम हत्या के 72 घंटे बाद लापरवाही के आरोप में 3 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। इस बीच घटना के खिलाफ देश भर में उबाल है। शनिवार को यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर घटना के खिलाफ प्रदर्शन किया है।

फोटोः सोसल मीडिया
फोटोः सोसल मीडिया

नवजीवन डेस्क

तेलंगाना के हैदराबाद में बुधवार की रात एक महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ सामूहिक रेप और फिर हत्या कर शव जलाने की घटना को लेकर पूरे देश में उबाल है। हैदराबाद से लेकर राजधानी दिल्ली तक में शनिवार को घटना के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर आए। इस बीच वारदात के 72 घंटे के बाद जाकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में आनाकानी करने वाले 3 पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया है।

साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर ने शनिवार शाम को बताया कि 27 और 28 नवंबर की मध्यरात्रि को शमशाबाद पुलिस स्टेशन इलाके में एक लापता महिला से संबंधित एफआईआर दर्ज करने में देरी को लेकर ड्यूटी में लापरवाही के आरोपों की आज विस्तृत जांच की गई। जिसके निष्कर्षों के आधार पर शमशाबाद पुलिस स्टेशन के एसआई एम रवि कुमार, पुलिस के एसआई, आरजीआईए एअरपोर्ट थाने के हेड कांस्टेबल पी वेणु गोपाल रेड्डी और हेड कॉन्स्टेबल सत्यनारायण गौड़ को अगले आदेश तक के लिए निलंबित कर दिया गया है।

इस बीच हैदराबाद में हुए इस घटना की आंच राजधानी दिल्ली तक पहुंच गई है। हैदराबाद में हुई दरिंदगी के खिलाफ शनिवार शाम को दिल्ली में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। सैकड़ों की संख्या में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हाथों में प्ले कार्ड लेकर विभत्स कांड के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला और इंसाफ की मांग की। इस दौरान पीड़ित डॉक्टर की तस्वीर के साथ प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं ने एक जगह कैंडल रखकर मृतक की आत्मी की शांति के लिए प्रार्थना की और उसे इंसाफ दिलाने के लिए लड़ाई जारी रखने का ऐलान किया।

इस घटना से पूरा देश स्तब्ध है। आम लोगों से लेकर बॉलीवुड हस्तियां तक अपना गुस्सा जाहिर करते हुए आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग कर रहे हैं। बॉलीवुड से अक्षय कुमार, शबाना आजमी जैसे कलाकारों के बाद सलमान खान ने भी इस घटना पर प्रतिक्रिया दी है। सलमान ने कहा कि सबको साथ मिलकर ये सब खत्म करने के बारे में सोचने की जरूरत है। उन्होंने ट्वीट में कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सिर्फ एक अभियान तक सीमित नहीं रहना चाहिए। अब वक्त आ गया है कि ऐसे शैतानों के खिलाफ सभी मिलकर खड़े हों। भगवान महिला डॉक्टर की आत्मा को शांति दे!

इससे पहले हैदराबाद के उस पुलिस थाने के बाहर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा, जहां इस कुकृत्य के आरोपियों को रखा गया था। शादनगर थाने में आरोपियों के होने की खबर लगते ही सैकड़ों लोगों ने थाने को घेर लिया और अंदर घुसने की कोशिश करने लगे। भीड़ आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी पर लटकाने की मांग कर रही थी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को उग्र होते देख लाठीचार्ज कर दिया। इस दौरान कुछ प्रदर्शकारियों ने पुलिसकर्मियों पर चप्पल भी फेंके। बाद में किसी तरह भीड़ को वहां से हटाया जा सका। बाद में सभी आरोपियों को वहां से हटाकर चंचलगुडा सेंट्रल जेल में शिफ्ट कर दिया गया। इससे पहले सभी आरोपियों को महबूबनगर स्थित फास्ट ट्रैक कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जहां से सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

गौरतलब है कि पशु चिकित्सक महिला की शमशाबाद स्थित आउटर रिंग रोड (ओआरआर) के टोल प्लाजा पर दो ट्रक चालकों और दो क्लीनरों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने के बाद हत्या करने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। आरोपियों ने बाद में शव को शादनगर शहर के बाहरी इलाके में जला दिया था। अगले दिन स्थानीय लोगों ने पीड़िता की अधजली लाश देख पुलिस को सूचना दी थी। जिसके बाद पुलिस ने शुक्रवार रात चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। आरोपियों की पहचान ट्रक चालक मोहम्मद आरिफ, ट्रक चालक चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू, क्लीनर जोलु शिवा और जोलु नवीन के तौर पर हुई है।

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि 27 वर्षीय महिला वेटनरी डॉक्टर बुधवार को कोल्लुरु के पशु चिकित्सालय गई थी। इससे पहले उसने शादनगर के टोल प्लाजा के पास अपनी स्कूटी पार्क की थी। काम के बाद रात में जब वह वापस लौटी तो उसकी स्कूटी पंक्चर थी। इसके बाद महिला डॉक्टर ने अपनी बहन को फोन किया और इसकी जानकारी देते हुए बताया कि उसे बहुत डर लग रहा है। उसने बहन से ये भी कहा कि कुछ लोगों ने मदद की पेशकश की है। थोड़ी देर बाद कॉल करूंगी कहकर पीड़िता ने फोन काट दिया था, जिसके बाद उसका मोबाइल बंद हो गया। परिजनों ने शादनगर टोल प्लाजा पहुंचकर आसपास महिला डॉक्टर की खोजबीन की, लेकिन वह कहीं नहीं मिली। सुबह शादनगर के अंडरपास के पास उसकी जली हुई लाश मिली।

लोकप्रिय