कृषि कानूनों की वापसी को कांग्रेस ने बताया देश और किसानों की जीत, पीएम मोदी से पूछे ये 5 सवाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्र के नाम संबोधन में पिछले करीब एक साल से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा कर दी। पीएम मोदी के इस फैसले को कांग्रेस ने किसानों और अपनी जीत बताया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्र के नाम संबोधन में पिछले करीब एक साल से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा कर दी। पीएम मोदी के इस फैसले को कांग्रेस ने किसानों और अपनी जीत बताया है। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि पिछले एक साल से जारी किसानों का संघर्ष काम आया। सुरजेवाला ने कहा कि अब बीजेपी की हार ही देश की जीत है।

मोदी सरकार ने किसानों को यातनाएं दीं- कांग्रेस

रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ''किसानों ने तीनों नए काले कृषि कानूनों के खिलाफ मोदी सरकार के सामने याचिकाएं लगाई थीं, लेकिन मोदी सरकार से उन्हें सिर्फ यातनाएं मिलीं। मोदी सरकार ने किसानों पर लाठीचार्ज कराए, दिल्ली के बॉर्डर्स खुदवा दिए और किसानों के सिर फोड़ने के आदेश दिए।'' उन्होंने कहा, ''इतना ही नहीं आंदोलन कर रहे किसानों को आतंकी कहा गया, नक्सलवादी कहा गया, आंदोलनजीवी कहा गया।''


बीजेपी सरकार को चुनावों में हार का डर सताने लगा है- कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे कहा, ''कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान 700 किसान शहीद हो गए और उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में देश के गृह राज्य मंत्री के बेटे ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर किसानों को गाड़ी से रौंद दिया।'' उन्होंने कहा, ''मोदी सरकार ने आज अपना अपराध स्वीकार किया है। अब बारी है मोदी सरकार की सज़ा तय करने की। बीजेपी को यूपी, पंजाब समेत अगले साल पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में हार का डर सताने लगा है।'' सुरजेवाला ने आगे कहा कि भाजपा की हार के आगे ही देश की जीत है।

मोदी और उनके मित्रों ने किसानों का दमन किया: कांग्रेस

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता ने कहा, "पिछले 7 सालों से लगातार पीएम मोदी और उनके मित्रों ने किसानों का दमन किया। किसानों को उनकी लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा देने का वायदा करके सत्ता में आए पीएम मोदी ने सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र देकर कहा कि लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा कभी दिया नहीं जा सकता।" सुरजेवाला ने फसल बीमा को लेकर भी पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को प्राइवेट बीमा कंपनी मुनाफा योजना बना दिया गया और 27 हजार करोड़ का मुनाफा चंद मुट्ठीभर बीमा कंपनियों को कमवाया।"


कांग्रेस का मोदी सरकार से पांच सवाल

कांग्रेस प्रवक्ता ने पीएम मोदी से पांच सवाल पूछे हैं:-

पहला सवाल – पीएम मोदी देश को बताएं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य किसान को मिले, इसका रोड मैप और रास्ता क्या है?

दूसरा सवाल- किसान की आय फरवरी, 2022 तक दोगुनी करने का वायदा किया था, पर एनएसओ भारत सरकार के मुताबिक इन सारे किसान विरोधी निर्णयों के बाद किसान की औसत आय 27 रुपए प्रतिदिन और किसान का औसत कर्ज 74,000 रुपए हो गया है। तो किसान की आय दोगुनी करने का रास्ता क्या है और वो कब तक होगी?

तीसरा सवाल- किसान के इंधन, डीजल पर 3 रुपए 56 पैसे प्रति लीटर से 28 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा कर किसान की कमर तोड़ने का जो काम किया है, उसे वापस करने का इरादा क्या है?

चौथा सवाल – खेती पर जो टैक्स लगाया है, जीएसटी लगाया है, उससे राहत देने का रास्ता क्या है? 5 प्रतिशत खाद पर टैक्स लगा दिया, 18 प्रतिशत कीटनाशक दवाई पर लगाया, 12 प्रतिशत ट्रैक्टर और खेती के उपकरणों पर लगाया, तो खेती को टैक्स से जीएसटी जो लगाया, उससे राहत देने का इरादा क्या है?

पांचवा सवाल – सुप्रीम कोर्ट और संसद में कहते हैं किसान की कर्ज मुक्ति का पैसा नहीं, पर आपकी एनएसओ कहती है कि देश का हर किसान 74,000 रुपए के औसत कर्ज के नीचे दबा है, तो किसान की कर्जा मुक्ति की मंशा क्या है?

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia