देश

शहीदों के परिजनों का राहुल गांधी ने बांटा दर्द, कहा- हमने भी अपने पिता को खोया है, समझता हूं आपका दुख

कांग्रेस नेताओं ने यहां शहीद की याद में आयोजित शोकसभा को संबोधित भी किया। इस मौके पर प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने खुद भी ऐसा ही कुछ देखा है, इसलिए हम पूरी तरह से समझ सकते हैं कि आप पर क्या गुजर रही है।

फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के घर लोगों का पहुंचना जारी है। शामली के शहीद सीआरपीएफ जवान अमित कुमार कोरी और प्रदीप कुमार प्रजापति के घर परिवार का दुख बांटने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी भी पहुंचे।

कांग्रेस नेताओं ने यहां शहीद की याद में आयोजित शोकसभा को संबोधित भी किया। इस मौके पर प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने खुद भी ऐसा ही कुछ देखा है, इसलिए हम पूरी तरह से समझ सकते हैं कि आप पर क्या गुजर रही है। उन्होंने कहा कि अब हम यह नहीं चाहते कि आप खुद को अकेला समझें, हम आपकी देखभाल करेंगे, पूरा देश आपके साथ है, हम आपके साथ हैं। जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दे दिया उनके प्रति हम अपनी श्रद्धांजलि और आदर समर्पित करते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'मैं इस दुख से भलीभांति परिचित हूं क्योंकि मेरे पिता साथ भी ऐसा हादसा हुआ था। मैंने अपने पिता को खोया है ओर मैं इस दुख को अच्छी तरह से समझता हूं।' कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "हमें ऐसे शहीद के परिवार पर गर्व है, जिसने अपनी सारी कमाई अपने बेटे को पढ़ाने-लिखाने पर खर्च की और बेटे ने अपना दिल, अपना शरीर देश की सेवा में दे दिया।'

शोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शहीद के पिता को संबोधित करते हुए कहा कि हम आपके साथ हैं और आपका हाथ पकड़कर साथ बैठना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के जितने भी जवान शहीद हुए हैं हम उनके परिवार के साथ खड़े हैं। राहुल ने कहा कि दुनिया में कोई भी शक्ति नहीं है जो इस देश को बांट पाए, डरा पाए, पीछे हटा पाए। यह वीरों का देश हैं और शहीदों ने इसका उदाहरण दिया है। उन्होंने कहा कि हम पूरे देश की ओर से आपको, आपके परिवार को, आपके वीर बेटे को धन्यवाद करते हैं।

बता दें कि अमित कुमार 92वीं बटालियन में कांस्टेबल पद पर तैनात थे। अमित 2 साल पहले सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे।

लोकप्रिय