देश

‘मोदी-शाह सत्ता के लिए भारतीय राज्यों की सांस्कृतिक पहचान को नष्ट करना चाहते हैं’

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, “मोदी-शाह के तहत सत्ताधारी पार्टी भीड़तंत्र को प्रोत्साहित कर रही है। और हमने पिछले पांच सालों में इस तरह के बार-बार उदाहरण देखे हैं। हमने राज्य की सांस्कृतिक पहचान की अपूरणीय क्षति देखी है।”

फोटो: आईएएनएस

आईएएनएस

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोडशो के दौरान मंगलवार को कोलकाता के एक कॉलेज में तोड़फोड़ और बंगाली समाज सुधारक विद्यासागर की अर्धप्रतिमा को तोड़े जाने की निंदा करते हुए कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि संघीय फासीवाद बीजेपी के डीएनए में है।

पश्चिम बंगाल से राज्यसभा सदस्य और कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, "संघीय फासीवाद बीजेपी के डीएनए में है। सत्ता के भूखे (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी, (अमित) शाह भारतीय राज्यों की सांस्कृतिक पहचान को नष्ट करने पर आमादा हैं।"

उन्होंने कहा, "कांग्रेस ईश्वर चंद विद्यासागर जैसे देश के महान शिक्षाविद की प्रतिमा को तोड़ने की कड़ी निंदा करती है।" सिंघवी ने कहा, "मोदी-शाह के तहत सत्ताधारी पार्टी भीड़तंत्र को प्रोत्साहित कर रही है। और हमने पिछले पांच सालों में इस तरह के बार-बार उदाहरण देखे हैं। हमने राज्य की सांस्कृतिक पहचान की अपूरणीय क्षति देखी है।"

सिंघवी की टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब एक दिन पहले मंगलवार शाम कोलकाता में शाह के रोडशो में शामिल बीजेपी समर्थकों और तृणमूल कांग्रेस के छात्र संगठन के सदस्यों के बीच संघर्ष हुआ था। उसके बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं के एक समूह ने कथित तौर पर विद्यासागर कॉलेज परिसर में तोड़फोड़ की और विद्यासागर की एक अर्धप्रतिमा तोड़ डाली।

सिंघवी ने केंद्र में सत्ताधारी बीजेपी की निंदा करते हुए कहा कि सरकार विनाश, विध्वंस और अपवित्रता की नकारात्मक राजनीति में विशेषज्ञता हासिल कर रही है।

कांग्रेस नेता ने कहा, "ये सभी विकेंद्रीकरण और विविधता की संघीय व्यवस्था के पहलू हैं। इन सभी पर सत्ताधारी दल अभूतपूर्व हमले कर रहा है। सत्ताधारी पार्टी विनाश, विध्वंस और अपवित्रता की नकारात्मक राजनीति में विशेषज्ञता हासिल कर रही है।" उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसके खिलाफ लगातार लड़ेगी।

लोकप्रिय