कोरोना से संबंधित जानकारी के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने जारी किए ये ऐप, जानिए आपके कितने काम हैं

लोगों को कोरोना वायरस के बारे में जानकारी देने के लिए और उससे बचाव के बारे जाने के लिए ऐप भी लॉन्च भी किए गए हैं। इनमें से कुछ ऐप होम क्वरांइटन में रखें गए लोगों को ट्रैक करेंगे। वहीं कुछ कोरोना से संबंधित फर्जी खबरों का खुलासा करते हुए आम लोगों को सहायता पहुचाएंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस के कहर को कम करने के लिए केंद्र और राज्य दोनों सरकारें अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही हैं। लोगों को इससे बचने के तरीके बताए जा रहे हैं। कोशिश यही है कि कम से कम लोग इस वायरस के चपेट में आएं। लोगों को कोरोना वायरस के बारे में जानकारी देने के लिए और उससे बचाव के बारे जाने के लिए ऐप भी लॉन्च भी किए गए हैं। इनमें से कुछ ऐप होम क्वरांइटन में रखें गए लोगों को ट्रैक करेंगे। वहीं कुछ कोरोना से संबंधित फर्जी खबरों का खुलासा करते हुए आम लोगों को सहायता पहुचाएंगे।

नीचे हम बातने जा रहे हैं कोरोना वायरस से संबंधित ऐप के बारे में, साथ ही हम ये भी बताएंगे कि आपके लिए ये ऐप किस तरह मददगार साबित हो सकता है।

आरोग्य सेतु

आरोग्य सेतु एक ट्रैकिंग ऐप है जिसको हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा लॉन्च किया गया है। इस ऐप में GPS सिस्टम और ब्लूटूथ के जरिए कोरोना वायरस के संक्रमण से संबंधित मामलों को पता लगाने की सुविधा है।आज कल हर स्मार्टफोन GPS सिस्टम और ब्लूटुथ सिस्टम होता ही है। सेंट्रल गर्वमेंट स्मार्टफोन की इन सुविधाओं का उपयोग करते हुए यह पता लगा सकती है कि क्या कोई व्यक्ति COVID-19 पेसेंट के करीब रह रहा है। यह एप्लिकेशन 11 भाषाओं को सपोर्ट करता है।

चैट बोट

पीएम मोदी ने वाट्सऐप चैट बोट के लॉचिंग का एलान किया था। इसके जरिए आम लोगों को कोरोना वायरस महामारी से संबंधित उनके सभी सवालों के सही जवाब मिल सकते हैं। इसके लिए उन्हें वाट्सऐप चैट बोट के 919013151515 सिर्फ HI... लिखकर छोड़ देना है। आप कोरोना से संबंधित अपने सवालों के जवाब जानने के लिए mygoverment corona helpdesk को भी कॉल कर सकते है। यहां आपको कोरोना के लक्षणों और इससे संबंधित आपके नजदीकी टेस्टिंग सेंटर की जानकारी आसानी से मिल सकती है।


कोरोना कवच

यह एक और COVID-19 ट्रैकर एप्लिकेशन है जिसको केद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना तकनीक मंत्रालय ने स्वास्थ और परिवार मंत्रालय के साथ मिलकर तैयार किया है। यह एप्लीकेशन अपने यूजर्स को उन संक्रमित यूजर्स की रियल टाइम लोकेशन की जानकारी देता है जिन्होंने अपने फोन पर कवच फीचर को एक्टीवेट किया होता है।

COVID-19 फीडबैक

यह एप्लीकेशन केंद्र सरकार द्वारा बनाया गया है इसके जरिए उन लोगों से सीधा फीडबैक लिया जाता है जिनका देश में कोरोना वायरस संबंधित इलाज हुआ है।

राज्य सरकारों के एल्पीकेशन

गोवा

गोवा के स्वास्थ मंत्रालय ने टेस्ट योर सेल्फ गोवा नाम के एप्लीकेशन के डेवलपमेंट के लिए innovaccer के साथ करार किया है। इस एप्लीकेशन की लॉन्चिंग यूजरों को सेल्फ डाइग्नोसिस की सुविधा देने के लिए लॉन्च किया गया है। इस एप्लीकेशन के जरिए यूजर लक्षणों के माध्यम से ये जान सकते है कि क्या उनमें कोरोना वायरस का कोई असर दिख रहा है।

पड्डूचेरी

innovaccer ने गोवा की तरह की पड्डूचेरी में भी टेस्ट योर सेल्फ पड्डूचेरी नाम का एप्लीकेशन डेवलप करने के लिए पड्डूचेरी सरकार के साथ करार किया है।


तमिलनाडु

तमिलनाडु में होम क्वरंटाइन में रखें गए लोगों को ट्रैक करने के लिए COVID-19 क्वरंटाइन मॉनीटर ऐप लॉन्च किया गया है। इस ऐप के जरिए ये पता चलता है कि क्या कि कहीं क्वरंटाइन किए गए व्यक्ति ने किसी नियम का उल्लघंन तो नहीं किया है। तमिलनाडु सरकार ने इस ऐप के डेवलपमेंट के लिए Pixxon-Ai soluations के साथ करार किया है। इस ऐप के माध्यम से यूजरCOVID-19 के लक्षणों की जांच भी कर सकता है।

कर्नाटक

कोरोना वायरस आउटब्रेक से निपटने के लिए कर्नाटक सरकार ने 1 से ज्यादा एप्लीकेशन लॉन्च किए है। इनमें से एक है कोरोनट्वाइन वॉच। ये एप्लीकेशन होम कोरोनट्वाइन में रखें गए लोगों को ट्रैक कर उनकी गतिविधियों पर निगरानी रखता है। ये gpsसिस्टम पर आधारित है।

कर्नाटका सरकार का ही एक दूसरा ऐप है कोरोना वॉच। जो COVID-19 संक्रमित व्यक्ति के लोकेशन और उसके 14 दिनों के मूमेंट हिस्ट्री को दिखाता है।

पंजाब

पंजाब सरकार ने COVA पंजाब नाम का एप्लीकेशन लॉन्च किया है। बेसिक रुप से यह एक कोरोना वायरस ट्रैकर ऐप है। हालांकि इसका उपयोग करफ्यू पास हासिल करने और लोगों के जमावड़े के बारे में सूचना देने के लिए भी किया जाता है।

केरल

केरल सरकार ने GoK-Direct ऐप लॉन्च किया है जिसका लक्ष्य कोरोना महामारी को लेकर जागरुकता फैलाना है। यह मुलत: एक समाचार प्रदाता ऐप है।

NCR

इस हफ्ते NCR में नोएडा अथॉरिटी आपूर्ति सुविधा नाम का ऐप लॉन्च किया गया है जो NCR रीजन में जरुरी समानों की आपूर्ति करेगा।

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र सरकार ने भी महाकवच नाम का एक ऐप लॉन्च किया है जिसके जरिए COVID-19 मरीज के Contact हिस्ट्री को ट्रेस किया जा सकता है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia