विपक्षी संसदों के निलंबन के खिलाफ INDIA गठबंधन का जंतर-मंतर पर प्रदर्शन, राहुल बोले- ये देश की 60 फीसदी जनता का अपमान

सीताराम येचुरी ने कहा कि आज देश का संविधान खतरे में है। उन्होंने कहा कि हम इकट्ठा हुए हैं हम इस संविधान को बचाएंगे। मौजूदा सरकार संविधान की रीढ़ की हड्डी को तोड़ रही है।

इंडिया गठबंधन ने जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया
इंडिया गठबंधन ने जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया
user

रवि प्रकाश @raviprakash24

संसद की सुरक्षा और विपक्षी सांसदों को निलंबित करने के मामले को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। गुरुवार को जहां विपक्षी सांसदों ने संसद से विजय चौक तक मार्च निकाला तो वहीं आज इंडिया गठबंधन ने जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, एनसीपी नेता शरद पवार, लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी, आरजेडी सांसद मनोज झा,  कांग्रेस नेता राहुल गांधी केसी वेणुगोपाल, अधीर रंजन, डी राजा (सीपीआई), त्रिची शिवा (डीएमके), रणदीप सुरजेवाला, प्रमोद तिवारी, जॉन ब्रिटास, संजीव अरोड़ा, सुशील रिंकू (आप) शामिल हुए। 

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने जंतर मंतर पर आए लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि इतनी संख्या में विपक्षी संसदों को निलंबित करना देश की 60 फीसदी जनता का अपमान है। राहुल गांधी ने कहा, "देश का युवा आज फोन पर बैठा है, क्योंकि मोदी जी ने युवाओं को रोजगार नहीं दिया। रोजगार उनसे छीन लिया है। युवाओं को एक ही रास्ता दिया है कि फोन पर, सोशल मीडिया पर व्यस्त रहो। ये देश की सच्ची हालत है। जो युवा थे, जिन्होंने संसद में सिक्योरिटी ब्रीच जरूर की, लेकिन वो भी सरकार की गलती है। मीडिया में ये बात नहीं आई की देश में बेरोजगारी है। मीडिया ने देश में बेरोजगारी की बात नहीं की। मीडिया कहती है कि संसद के बाहर सांसद बैठे थे, वहां पर राहुल गांधी ने वीडियो बनाया। इन्होंने यह नहीं कहा कि 146 सांसदों को निलंबित कर दिया गया। ये सवाल मीडिया ने नहीं पूछा।"

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार से हमने सवाल पूछा कि संसद की सुरक्षा में चूक कैसे हुई? दो युवा आखिर संसद के अंदर कैसे घुस गए? हम लोगों ने बेरोजगारी पर सवाल पूछे, उन्होंने 146 संसादों को निलंबित कर दिया। मीडिय बेरोजगारी की बात नहीं करती है, बस ध्यान इधर-उधर भटकाती है। जिन सांसदों को निलंबित कर दिया गया, वो सिर्फ एक व्यक्ति नहीं हैं, हिंदुस्तान की जनता की आवाज हैं।  

उन्होंने कहा, "हर सांसद लाखों वोट लेकर आता है। आपने (सरकार) सिर्फ इन लोगों का अपमान नहीं किया, बल्कि आपने हिंदुस्तान की 60 फीसदी जनता का मुंह बंद किया है। आप सोचते हो कि आप देश की जनता को डरा दोगे, धमका दोगे। आप अग्निवीर योजना लाए। हिंदुस्तान के युवाओं से आपने देशभक्ति की फीलिंग छीन ली। जब युवा खड़े हुए तो आपने वीडियो कैमरे से उनके चेहरे देखे, उनसे आपने कह दिया कि अगर आपने अग्निवीर के बारे में कुछ बोला तो आपको हम सरकारी नौकरी नहीं देंगे।"

राहुल गांधी ने कहा कि हम सब विपक्ष के नेता और विपक्ष के कार्यकर्ता एक साथ खड़े हैं। ये लड़ाई नफरत और मोहब्बत के बीच की लड़ाई है। नफरत के बाजार में हम मोहब्बत की दुकान खोल रहे हैं। जितनी आप नफरत फैलाओगे, इंडिया गठबंधन उतना मोहब्बत फैलाएगा।

सांसदों के निलंबन पर इंडिया ब्लॉक के विरोध पर कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा, "देश में लोकतंत्र को बचाने के लिए सभी राष्ट्रवादी संगठनों को एक साथ आने और एक आवाज में संदेश देने की जरूरत है..."


वहीं सीताराम येचुरी ने कहा कि आज देश का संविधान खतरे में है। उन्होंने कहा कि हम इकट्ठा हुए हैं हम इस संविधान को बचाएंगे। मौजूदा सरकार संविधान की रीढ़ की हड्डी को तोड़ रही है। आने वाले चुनावो में हम 28 पार्टियां मिलकर लड़ेंगे और मौजूदा सरकार को सत्ता से बाहर करेंगे।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
फोटो: विपिन

आरजेडी सांसद मनोज झा ने कहा, "लोकतंत्र की हत्या हो गई है। अब लोकतंत्र को पुनर्जीवित करना है। वे (प्रधानमंत्री मोदी) विदेश जाते हैं तो सीना ठोककर बोलते हैं कि 'लोकतंत्र की जननी' से आया हूं, अब क्या सीना ठोकेंगे पीएम साहब?"


इंडिया गठबंधन के दलों के विरोध पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा, "दुनिया में लोकतंत्र के इतिहास में किसी भी देश में, 146 सांसदों को कभी निलंबित नहीं किया गया है... लोगों को पता होना चाहिए कि हमारा लोकतंत्र खतरे में है। इसलिए हम ये विरोध कर रहे हैं लोगों को यह बताने के लिए कि जो कुछ भी हो रहा है वह देश के भविष्य के लिए गलत है... इसका एक ही समाधान है, लोगों को इस सरकार को बदलना चाहिए और इंडिया अलायंस को सत्ता में लाना चाहिए...''

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;