उत्तरकाशी में दर्जनों देव डोलियों के साथ पहुंचे श्रद्धालु, मकर संक्रांति पर लगाई आस्था की डुबकी

उत्तरकाशी के मणिकर्णिका घाट, जडभरत, केदार घाट, लक्षेश्वर, शंकर मठ, नाकुरी, देवीधार, गंगोरी अस्सी गंगा तट सहित स्नान घाटों पर तड़के चार बजे ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़नी शुरू हो गई थी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

आज पूरे देश में मकर संक्रांति का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। हज़ारों श्रद्धालु गंगा नदी में डुबकी लगा रहे हैं। उत्तरकाशी में मकर संक्रांति पर भागीरथी नदी के घाटों पर गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की सुबह से ही भीड़ उमड़ पड़ी।

सुबह से ही श्रद्धालुओं का गंगा घाटों पर आना शुरू हो गया। श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान के बाद पूजा-अर्चना कर सुख समृद्धि की कामना की। इतना ही नहीं, मकर संक्रांति यानी स्नान पर्व पर दर्जनों देव डोलियों ने भी नगाड़ों की धुन पर गंगा स्नान किया।

घाटों पर पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रखी। ठंड को देखते हुए गंगा घरों पर अलाव की भी व्यवस्था की गई है।


उत्तरकाशी के मणिकर्णिका घाट, जडभरत, केदार घाट, लक्षेश्वर, शंकर मठ, नाकुरी, देवीधार, गंगोरी अस्सी गंगा तट सहित स्नान घाटों पर तड़के चार बजे ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़नी शुरू हो गई थी।

स्नान पर्व पर बाडाहाट क्षेत्र के आराध्य कंडार देवता, बाडागड्डी क्षेत्र के आराध्य हरिमहाराज, खंडद्धारी माता, कैलापीर, नाग देवता, घंडियाल देवता, बाल कंडार, नागणी देवी, रनाड़ी के कचडू देवता, डुंडा की रिंगाली देवी, सहित धनारी क्षेत्र नागराजा, त्रिपुरा माता, चंदणनाग, राजराजेश्वारी आदि दर्जनों देवी-देवताओं की डोलियां, ढोल, निशान आदि के साथ हजारों श्रद्धालु उत्तरकाशी पहुंचे और गंगा में आस्था की डुबकी लगाई।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;