देश

तमिलनाडु में कांग्रेस-डीएमके गठबंधन का ऐलान, 9 और 30 सीटों का फार्मूला, पुड्डुचेरी सीट भी कांग्रेस को

समझौते के अनुसार तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीटों में से 9 पर कांग्रेस और 30 पर डीएमके चुनाव लड़ेगी। जबकि पुड्डुचेरी की एकलौती सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार को डीएमके अपना समर्थन देगी। पिछले लोकसभा चुनाव में दोनों पार्टियों ने अकेले चुनाव लड़ा था।

फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में कांग्रेस और डीएमके के बीच गठबंधन का ऐलान हो गया है। दोनों पार्टियों ने सीटों पर फैसला करते हुए दोनों राज्यों में मिलकर मजबूती के साथ चुनाव लड़ने का फैसला किया है। इस ऐलान के साथ दोनों पार्टियों की सीटों की संख्या को लेकर भी स्थिति साफ हो गई है।

समझौते के अनुसार तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीट में से 9 पर कांग्रेस और 30 पर डीएमके चुनाव लड़ेगी। जबकि पुड्डुचेरी की एकलौती सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार को डीएमके अपना समर्थन देगी। दोनों पार्टियों के बीच बुधवार को गठबंधन पर सहमति बनी, जिसके बाद इसका ऐलान हो गया।

इससे पहले मंगलवार को दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन को लेकर डीएमके नेता कनिमोझी और तमिलनाडु कांग्रेस अध्यक्ष केएस अलागिरी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले थे। इस मुलाकात के बाद गठबंधन की स्थिति पर अंतिम मुहर लग गई।

बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में डीएमके ने तमिलनाडु की सभी 39 सीटों पर यूपीए से अलग होकर चुनाव लड़ा था। उस चुनाव में डीएमके और कांग्रेस दोनों ही को तमिलनाडु में कोई सीट नहीं मिली थी। गत चुनाव में दिवंगत डीएमके प्रमुख करुणानिधि ने स्थानीय पार्टियों के साथ राज्य स्तर पर अलग से गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ा था, लेकिन उसका नुकसान डीएमके को उठाना पड़ा था।

गौरतलब है कि एक दिन पहले ही मंगलवार को बीजेपी और तमिलनाडु की सत्ताधारी एआईडीएमके के बीच गठबंधन का ऐलान हुआ है। इस गठबंधन में पीएमके को भी शामिल किया गया है। इस समझौते के तहत तमिलनाडु में बीजेपी 5 और एआईडीएमके 27 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि पीएमके को इस समझौते में 7 सीटें दी गई हैं। साथी ही इस गठबंधन में ये शर्त भी रखी गई है कि राज्य की 21 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में बीजेपी को एआईडीएमके को समर्थन देना होगा।

लोकप्रिय