बिहार में 1.70 लाख शिक्षकों की नियुक्ति के लिए परीक्षा शुरू, BPSC के अध्यक्ष ने परीक्षार्थियों को दी ये खास सलाह

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) द्वारा आयोजित इस परीक्षा के लिए पूरे राज्य में 850 केंद्र बनाए गए हैं। दो पालियों में होने वाली परीक्षा में आठ लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में 1.70 लाख शिक्षकों की भर्ती के लिए गुरुवार से परीक्षा शुरू हुई। अगले दो दिन 25 और 26 अगस्त को भी राज्यभर में परीक्षा का आयोजन कराया जाएगा। बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) द्वारा आयोजित इस परीक्षा के लिए पूरे राज्य में 850 केंद्र बनाए गए हैं। दो पालियों में होने वाली परीक्षा में आठ लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा को लेकर सभी केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं।

गुरुवार की सुबह प्राथमिक शिक्षक के लिए विषय पत्र और शुक्रवार को अनिवार्य भाषा पत्र की परीक्षा है। बताया जाता है कि प्राथमिक शिक्षकों की 79,943 रिक्तियों के लिए करीब साढ़े सात लाख आवेदक हैं जबकि माध्यमिक शिक्षकों की 34,916 रिक्तियों के लिए 65,500 और उच्च माध्यमिक शिक्षकों की 57,680 रिक्तियां हैं।


आयोग के अध्यक्ष अतुल प्रसाद ने सभी अभ्यर्थियों से अफवाहों से दूर रहने की बात कहते हुए कहा कि सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पटना में 38 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, जहा करीब 27 हजार परीक्षार्थी हैं।

परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र सीधे परीक्षा हॉल में भेजा जा रहा है, जहां अभ्यर्थियों के सामने खोला जाएगा। परीक्षा केंद्रों के आसपास के सभी साइबर कैफे और फोटो स्टेट की दुकानों को बंद रखा गया है। इधर, परीक्षा के कारण पटना के होटल, रेस्ट हाउस भरे पड़े हैं। बुधवार की शाम पटना रेलवे स्टेशन पर परीक्षार्थियों की बड़ी भीड़ देखी गई।

परीक्षा के लिए 10 अगस्त से एडमिट कार्ड डाउनलोड करने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई थी। इसमें उम्मीदवारों के एग्जाम सेंटर कोड और जिले का विवरण दिया गया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;