फरीदाबाद के होटल में छिपा था यूपी का सबसे बड़ा गैंगस्टर, लेकिन पुलिस को इस तरह चकमा दे भाग निकला विकास दुबे!

उत्तर प्रदेश में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले भगोड़े गैंगस्टर के फरीदाबाद में नजर आने के बाद हरियाणा पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। बुधवार सुबह अधिकारियों ने यह जानकारी दी। हालांकि, स्थानीय पुलिस के छापेमारी करने से पहले ही वह भाग निकला।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले भगोड़े गैंगस्टर के फरीदाबाद में नजर आने के बाद हरियाणा पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। बुधवार सुबह अधिकारियों ने यह जानकारी दी। हालांकि, स्थानीय पुलिस के छापेमारी करने से पहले ही वह भाग निकला। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के 3 साथियों को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। विकास दुबे के साथी प्रभात से पुलिस ने तीन पिस्टल बरामद की हैं। इनमे 2 पिस्टल यूपी पुलिस की और एक विकास की है। फरीदाबाद पुलिस ने प्रभात, अंकुर और अंकुर के पिता श्रवण की गिरफ़्तारी की पुष्टि की है। उनके खिलाफ खेरी पुल थाने में मुकदमा भी दर्ज किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, विकास दुबे पांच जुलाई को ही यहां पर पहुंच गया था। सूत्रों के मुताबिक, यहां के इंदिरा एन्क्लेव में उसका रिश्तेदार अंकुर रहता है। पहले वह अंकुर के पास ठहरा था। बाद में उसके लिए ओयो में ठहरने की व्यवस्था की। पुलिस को इंदिरा एन्क्लेव से ही सुराग हाथ लगा था। इसके बाद अंकुर को हिरासत में लिया गया। उसने विकास के ओयो होटल में ठहरे होने की सूचना दी। इसके बाद फ़रीदाबाद पुलिस ने ओयो पर छापेमारी की। वहां से प्रभात उर्फ़ कार्तिकेय को पकड़ा गया, जबकि विकास पहले ही यहां निकल गया था।

खुफिया रिपोर्टों के अनुसार, विकास फर्जी पहचान के जरिए बदखल चौक इलाके में स्थित एक छोटे होटल में रुका था। हरियाणा और उत्तर प्रदेश की संयुक्त टीमों ने दुबे के एक सहयोगी को हिरासत में लिया है। उसने पुष्टि की है कि दुबे होटल में उसके साथ रूका था। वहीं पुलिस को सीसीटीवी फुटेज हासिल करने में कामयाबी मिली है, जिसमें दुबे काले रंग की शर्ट, जींस और मास्क पहने होटल में नजर आ रहा है।

एक और सीसीटीवी कैमरे से पता चला कि वह एक बैग रखे है और सड़क किनारे खड़ा होकर एक वाहन के आने का इंतजार कर रहा था। होटल के कर्मचारियों के अनुसार, विकास ने अपनी पहचान अंकुर के रूप में कराई थी और पुलिस के होटल पहुंचने से पहले ही वह वहां से भाग गया था।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "हमारी जानकारी के मुताबिक विकास दुबे दिल्ली और एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) में आने-जाने के लिए सार्वजनिक परिवहन का उपयोग कर रहा है। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई दे रहा है कि वह सड़क के किनारे खड़े होकर एक वाहन का इंतजार कर रहा था।" दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में गैंगस्टर को पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर कार्रवाई जारी है।

इससे पहले बुधवार सुबह स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने उत्तर प्रदेश के मौदहा में एक मुठभेड़ में अमर दुबे को मार गिराया था। गैंगस्टर विकास दुबे के दाहिने हाथ माने जाने वाले अमर को मंगलवार को कानपुर पुलिस ने मोस्ट वॉन्टेड की सूची में शामिल किया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Published: 8 Jul 2020, 1:15 PM
लोकप्रिय
next