हरियाणा में सियासी भूचाल, सरकार बचाने की कवायद में जुटे CM खट्टर-दुष्यंत चौटाला!

नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है। हालांकि, आज सुप्रीम कोर्ट ने इन कानूनों पर अगले आदेश तक रोक लगा दिया है। लेकिन किसानों के प्रदर्शन की वजह से हरियाणा की राजनीति में भूचाल ला दिया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है। हालांकि, आज सुप्रीम कोर्ट ने इन कानूनों पर अगले आदेश तक रोक लगा दिया है। लेकिन किसानों के प्रदर्शन की वजह से हरियाणा की राजनीति में भूचाल ला दिया है। राज्य की मनोहर लाल खट्टर सरकार को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि कई विधायक किसानों के प्रदर्शन से दबाव में हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री खट्टर और उनके उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पार्टी के वरिष्ठ नेताओं सहित आज गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने वाले हैं। ऐसे सवाल उठ रहे हैं कि क्या हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी के विधायक दबाव में हैं?

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, दुष्यंत चौटाला, अमित शाह से मिलने से पहले दिल्ली में अपने फार्म हाउस में अपनी पार्टी जेजेपी के विधायकों से मुलाकात करने वाले हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि वो अपने विधायकों को विश्वास में रखने के लिए यह बैठक कर रहे हैं।

बता दें कि हरियाणा के किसान कृषि कानूनों के खिलाफ बड़े पैमान पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इनके समर्थन में कई राजनीतिक पार्टी खड़े हैं। सोमवार को इनेलो के प्रमुख अभय चौटाला ने एक चिट्ठी लिखकर खट्टर का विरोध किया है और कहा है कि अगर 26 जनवरी तक किसानों की बात नहीं मानी जाती है तो उनकी इस चिट्ठी को ही इस्तीफा माना जाए। उन्होंने कहा था कि वो ऐसी संवेदनहीन विधानसभा में नहीं रहना चाहते। अब उनकी इस धमकी से विधायकों के बीच दबाव बन गया है।

बता दें कि हरियाणा की सत्ता में बीजेपी के पास 40 सीटें, जेजेपी के पास 10 और पांच स्वतंत्र विधायक हैं। विधायकों पर किसानों का भारी दबाव बताया जा रहा है। कई बार ऐसी खबरें आईं कि मनोहर लाल सरकार खतरे में है। यही वजह है कि मुख्यमंत्री खट्टर और उनके उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पार्टी के वरिष्ठ नेताओं सहित आज गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने वाले हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next