कर्नाटक: राजनीतिक उथल-पुथल के बीच विधानसभा में आज होगा शक्ति परीक्षण

कर्नाटक में राजनीतिक हलचल के बीच कांग्रेस और जेडीएस अपनी गठबंधन की सरकार को बचाने के लिए पूरी कोशिशों के साथ जुटी हुई है। गुरुवार को भी विश्वास मत की कार्यवाही का कोई हल नहीं निकलने के बाद विधानसभा स्पीकर ने 22 जुलाई तक कार्यवाही को स्थगित कर दिया था।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक में राजनीतिक उथल-पुथल के बीच विधानसभा में आज कुमारस्वामी सरकार द्वारा विश्वास मत पर वोटिंग की प्रक्रिया शुरू की जएगी। सदन की कार्यवाही बुधवार को शुरू हुई थी लेकिन विश्वास मत पर चर्चा के दौरान हुए हंगाने के चलते कार्यवाही को गुरुवार तक के लिए के लिए स्थगित कर दिया गया था। हालांकि गुरुवार को भी विश्वास मत की कार्यवाही का कोई हल नहीं निकला, जिसके बाद विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने 22 जुलाई तक कार्यवाही को स्थगित कर दिया था।

कर्नाटक में राजनीतिक हलचल के बीच कांग्रेस और जेडीएस अपनी गठबंधन की सरकार को बचाने के लिए पूरी कोशिशों के साथ जुटी हुई है। शक्ति परीक्षण के दौरान सीएम कुमारास्वामी के लिए एक-एक वोट बहुत मायने रखता है। शक्ति परीक्षण से एक दिन पहले यानी रविवार को बसपा विधायक एन महेश ने विश्वास मत के दौरान सदन में उपस्थित न होने का निर्णय लिया था।

विश्वास मत की प्रक्रिया से पहले बीजेपी और कांग्रेस ने अपने विधायकों के साथ बैठक कर अपनी रणनीतियों पर विचार किया। सोमवार को शक्ति परीक्षण की गंभीरता को देखते हुए कांग्रेस पार्टी ने बेंगलुरु के ताज होटल में अपने विधायकों की बैठक बुलाई थी, जिसमें कई अहम मुद्दों पर बात हुई। वहीं बीजेपी ने भी होटल रमाडा में अपने सभी विधायकों के साथ बैठक की थी।

बता दें कि गुरूवार को ही शक्ति परीक्षण की मांग को लेकर बीजेपी प्रतिपक्ष और कर्नाटक बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने पार्टी के सभी विधायकों के साथ रात भर सदन में ही धरना देने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि जब तक विश्वास प्रस्ताव पर फैसला नहीं होता हमारे विधायक सदन में रहेंगे।

लोकप्रिय