अहमदाबाद: अंबेडकर जयंती पर बीजेपी सांसद के पहुंचने पर जिग्नेश समर्थकों का हंगामा, पुलिस ने लिया हिरासत में

गुजरात के अहमदाबाद में डॉ अंबेडकर की प्रतीमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे बीजेपी नेताओं को उस समय भारी विरोध का सामना करना पड़ा, जब जिग्नेश मेवानी के कुछ समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। 

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती के मौके पर गुजरात के अहमदाबाद में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे बीजेपी सांसद और अन्य नेताओं को विरोध का सामना करना पड़ा। बीजेपी सांसद किरीट सोलंकी पार्टी के अन्य नेताओं के साथ बाबा साहेब की प्रतीमा पर माल्यार्पण के लिए पहुंचे थे। इस दौरान कुछ लोगों ने उनका विरोध करना शुरू कर दिया। खबरों के मुताबिक ये लोग जिग्नेश मेवानी के समर्थक बताए जा रहे हैं। विरोध करने वालों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

एक दिन पहले 13 अप्रैल को दलित नेता और विधायक जिग्नेश मेवानी ने ऐलान किया था कि अंबेडकर जयंती के दिन किसी भी बीजेपी नेता को अंबेडकर कि प्रतिमा पर फूल-माला नहीं चढ़ाने देंगे। माना जा रहा है कि बीजेपी सांसद के माल्यार्पण का विरोध करने वाले जिग्नेश मेवानी के ही समर्थक थे। घटना को लेकर मीडिया से बात करते हुए बीजेपी सांसद सोलंकी ने कहा कि बाबा साहेब हमारे देवता हैं, उन्हें फूल चढ़ाने से रोकने वाला जिग्नेश कौन होता है?

जिग्नेश मेवानी ने अपने समर्थकों को पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने की पुष्टी करते हुए ट्वीट किया है।

इससे पहले मेवानी ने 14 अप्रैल को कच्छ के दलितों को न्याय दिलाने के लिए हाईवे जाम करने का ऐलान किया था। मेवानी ने कहा था कि कच्छ के रापर तहसील के दलित और कोली समाज के लोगों को सरकार से पिछले 30 सालों में उनके हक की जमीन नहीं मिली है। हालांकि, मेवानी के आंदोलन के ऐलान के बाद 13 अप्रैल को कच्छ के कलेक्टर ने आननफानन में एक ही दिन में 100 एकड़ से ज्यादा जमीन का कब्‍जा दलितों को दे दिया। जिसके बाद मेवानी ने अपना आंदोलन वापस ले लिया।

बता दें कि एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में जिग्नेश मेवानी ने 13 अप्रैल को ऐलान किया था कि अंबेडकर जयंती के मौके पर किसी भी बीजेपी नेता को बाबा साहेब की मूर्ती को हाथ नहीं लगाने दिया जाए। मेवानी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि मोदी की राजनीति को देखें, तो ऐसा लगता है कि उनकी जुबान पर बाबा साहेब अंबेडकर का नाम है, लेकिन उनके दिल में मनु छिपा बैठा है। मेवानी ने कहा कि अब तक मारे गए 11 दलितों को लेकर पीएम मोदी ने एक भी शब्द नहीं बोला। इससे पहले ऊना की घटना के पीड़ितों पर भी उन्होंने कुछ भी नहीं बोला था। गुजरात के युवा विधायक जिग्नेश मेवानी ने कहा कि बीजेपी के लोग संविधान को बदलना चाहते हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia