इतिहासकार बाबासाहेब पुरंदरे का निधन, PM समेत कई लोगों ने दी श्रद्धांजलि, CM ठाकरे बोले- शिव का ऐसा भक्त नहीं मिलेगा

बलवंत मोरेश्वर उर्फ बाबासाहेब पुरंदरे के हजारों प्रशंसक उनके पुणे स्थित घर के बाहर कतार में लग गए, जहां उनके शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। पुरंदरे का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

प्रसिद्ध इतिहासकार, लेखक और थिएटर के दिग्गज बलवंत मोरेश्वर उर्फ बाबासाहेब पुरंदरे का सोमवार तड़के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। पद्म विभूषण से अलंकृत, पुरंदरे ने सोमवार की सुबह लगभग 5 बजे दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल और अनुसंधान केंद्र में 99 साल की उम्र में अंतिम सांस ली।

सुबह से ही उनके हजारों प्रशंसक उनके पुणे स्थित घर के बाहर कतार में लग गए, जहां उनके शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। एक अधिकारी ने बताया कि पुरंदरे का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी,मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले, राकांपा प्रमुख शरद पवार, भारतीय जनता पार्टी के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे, राज्य और केंद्रीय मंत्री, रंगमंच की दुनिया और अन्य लोगों ने बाबासाहेब पुरंदरे के निधन पर शोक व्यक्त किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुझे खबर सुनकर बहुत दुख हुआ है। उनके निधन से इतिहास और संस्कृति की दुनिया में एक बड़ा खालीपन आ गया है। मैं उनका धन्यवाद करता हूं कि, उनकी वजह से आने वाली पीढ़ियां छत्रपति शिवाजी महाराज से और जुड़ेंगी। पीएम ने बाबासाहेब पुरंदरे को मजाकिया, बुद्धिमान और भारतीय इतिहास का समृद्ध ज्ञान रखने वाले व्यक्ति के रूप में वर्णित किया।

वहीं उद्धव ठाकरे ने कहा कि खोजेंगे पर भी ध्यान में डूबा हुआ शिव का ऐसा भक्त नहीं मिलेगा। शिव भक्त अब शिव के चरणों में है। शिवशहर बाबासाहेब पुरंदरे के निधन पर परिवार और प्रशंसकों को मेरी गहरी संवेदना। सीएम ने निर्देश दिया है कि बाबासाहेब पुरंदरे का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ पुणे के एक श्मशान में किया जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia