मेरठ में 'लड़की हूँ लड़ सकती हूँ' मैराथन में उमड़ी भारी भीड़, रूबी बनीं विजेता

मेरठ में कांग्रेस द्वारा आयोजित की गई 'लड़की हूँ लड़ सकती हूँ' मैराथन दौड़ प्रतियोगिता बेहद कामयाब रही। प्रतियोगिता में आशा से बहुत अधिक लड़कियां आईं।

फोटो: आस मोहम्मद कैफ
फोटो: आस मोहम्मद कैफ
user

आस मोहम्मद कैफ

मेरठ में कांग्रेस द्वारा आयोजित की गई 'लड़की हूँ लड़ सकती हूँ' मैराथन दौड़ प्रतियोगिता बेहद कामयाब रही। प्रतियोगिता में आशा से बहुत अधिक लड़कियां आईं। हालात यह रही कि आयोजकों को व्यवस्था बनाने में अत्यधिक संघर्ष करना पड़ा। लड़कियों की भारी संख्या में सहभागिता देखकर विपक्षियों चेहरे लटक गए। विपक्षी दावा कर रहे थे कि प्रतियोगिता में 100 लड़कियां भी नही पहुंचेंगी, मगर बेहद कामयाब कार्यक्रम में 5 हज़ार लड़कियों ने शिरकत की। इस दौरान 10 ड्रोन से लड़कियों के मूवमेंट पर निगरानी की गई। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने चार चांद लगा दिए। कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने कार्यक्रम में विपक्षी भाजपाइयों पर कामयाबी से चिढ़कर साज़िश कर दौड़ के रंग में भंग डालने का भी आरोप लगाया है।

फोटो: आस मोहम्मद कैफ
फोटो: आस मोहम्मद कैफ

मेरठ के कैलाश प्रकाश स्टेडियम से सीसीएस यूनिवर्सिटी तक 5 किमी तक की इस मैराथन दौड़ में लड़कियों का उत्साह अद्भुत और चरम पर रहा। मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने कहा कि लड़कियों का यह उत्साह देखकर वो बहुत प्रफुल्लित है। प्रियंका गांधी जी लड़कियों में आत्मविश्वास भर रही हैं। यह उसी की प्राथमिक सीढ़ी है। इसी आत्मविश्वास और उत्साह को राजनीतिक भी होना है। जीवन के हर एक क्षेत्र में फाइटर स्प्रीट को पैदा करना है। मैराथन के विजेता के तौर पर रूबी का नाम घोषित किया गया। दूसरे स्थान पर बद्धो और तीसरे स्थान पर सोनम और रीना शर्मा संयुक्त रूप से रहीं।

फोटो: आस मोहम्मद कैफ
फोटो: आस मोहम्मद कैफ

मैराथन की सफलता से गदगद कांग्रेस के प्रभारी अश्विनी त्यागी ने कहा कि नारी समाज में अत्यधिक शक्ति है। कांग्रेस पार्टी उनके अंदर की शक्ति को जगाने का काम कर रही है। इस तरह की प्रतियोगिता लगातार आयोजित की जाएगी। आज इस प्रतियोगिता की अथाह कामयाबी ने हमें बहुत दृढ़ बनाया है।

फोटो: आस मोहम्मद कैफ
फोटो: आस मोहम्मद कैफ

मैराथन दौड़ की प्रतिभागिता में पश्चिमी उत्तर प्रदेश कांग्रेस की महिला अध्यक्ष स्वप्निल शर्मा का महत्वपूर्ण योगदान रहा। वो बरेली से यहां सैकड़ो ललड़कियों के साथ आईं। स्वप्निल ने कहा कि लड़कियों की सहभागिता और प्रतिभागिता ने उन्हें आज भावुक कर दिया। उनके लड़ने की क्षमता ने उनके अंदर की क्षमता का बेहतरीन प्रदर्शन किया। यह बेहद ही शानदार दिन रहा।


मैराथन में मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़, मेरठ और बागपत की लड़कियों ने सबसे अधिक उत्साह से भाग लिया। विजेता रूबी ने बताया कि वो बहुत खुश है और वो प्रियंका गांधी जी को इस आयोजन के लिए धन्यवाद कहती है। रूबी को इनाम के रूप में स्कूटी प्रदान की गई। अन्य विजेताओं को स्मार्ट फोन और फिटनेस बैंड प्रदान किया गया। मेरठ की नागरिक अंजू चौधरी ने बताया कि आज सुबह वो रोजमर्रा की तरह टहलने जा रही थी तो सड़कों पर 'लड़की हूँ लडक़ी सकती हूँ ' टी शर्ट पहनकर लड़कियों के हुजूम को दौड़ते हुए देखकर बहुत अच्छा लगा। यह एक बेहद रचनात्मक और अच्छा कदम रहा।

मेरठ के जिलाध्यक्ष अवनीश काजला ने सभी को धन्यवाद देते हुए बताया कि भाजपा के कुछ लोगों ने रंग में भंग मिलाने की कोशिश की। वो कार्यक्रम की कामयाबी से चिढ़ गए। इस सफल आयोजन के लिए वो सभी का धन्यवाद कहते हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia