मुजफ्फरपुर में अस्पताल के पीछे मिले कई मानव कंकाल, इसी अस्पताल में चमकी बुखार से 108 बच्चों की गई जान 

बिहार के मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के पीछे भारी मात्रा में मानव कंकाल पाए गए हैं। बता दें कि इस अस्पताल में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) जिसे चमकी बुखार के नाम से भी जाना जाता है, से अब तक 108 बच्चों की मौत हो चुकी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बिहार के मुजफ्फरपुर का श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल बदइंतजामी की वजह से पहले ही चर्चा में है, अब एक और मामले की चर्चा होने लगी है। इस हॉस्पिटल के पीछे भारी मात्रा में मानव कंकाल पाए गए हैं। बता दें कि इस अस्पताल में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) जिसे चमकी बुखार के नाम से भी जाना जाता है, से अब तक 108 बच्चों की मौत हो चुकी है। वहीं, पूरे बिहार में अब तक एईएस से 145 बच्चों की मौत हुई है।

न्यूज एजेंसी एएनआई ने अस्पताल के पीछे मिले मानव कंकालों के फोटों ट्वीट किया है। एजेंसी के मुताबिक, हॉस्पिटल के पीछे नर कंकालों के कई टुकड़े पाए गए हैं। तस्वीरें सामने आने के बाद अस्पताल प्रशासन इस मामले को लेकर जांच कराने की बात कही है। श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट एसके शाही ने कहा, ‘पोस्टमार्डम डिपार्टमेंट प्रिंसिपल के अंतर्गत आता है। मैं प्रिंसिपल से बात करुंगा और जांच के लिए कमेटी बनाने को कहूंगा।’

मुजफ्फपुर में चमकी बुखार से अब तक करीब 150 बच्चों की जान चली गई है। ज्यादातर बच्चों का इलाज यहीं हो रहा था। यहां मरीजों के लिए बिस्तर और डॉक्टरों की भारी कमी की वजह से बच्चों को बेहतर इलाज नहीं मिल सका। इस वजह से भी मृतकों की संख्या में इजाफा हुआ। जिससे बाद से ही यह अस्पताल सवालों के घेरे में है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी हाल ही में इस हॉस्पिटल का दौरा कर चुके हैं। इसके बावजूद असप्ताल के पीछे मानव कंकाल के टुकड़े मिलने से कई सवाल खड़े हो रहे हैं। मानव कंकाल के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहे हैं। लोग अस्पताल पर सवाल उठाने लगे हैं।

Published: 22 Jun 2019, 2:31 PM
लोकप्रिय