आईडीबीआई बैंक में 772 करोड़ का फर्जीवाड़ा, खबर सामने आते ही धड़ाम हो गए शेयर

आईडीबीआई बैंक ने 772 करोड़ रूपए के घोटाले का खुलासा किया है। इस मामले में सीबीआई ने दो एफआईआर दर्ज की हैं। फर्जीवाड़े की खबर सामने आने के बाद बैंक के शेयरों में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

एक और बैंक घोटाला सामने आया है। इस बार घोटाले की जानकारी दी है आईडीबीआई बैंक ने। बैंक ने कहा है कि फर्जी दस्तावेजों के जरिए कर्ज लेकर उसकी पांच शाखाओं को 772 करोड़ रूपए का चूना लगाया गया है। इस मामले में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर ली है। धोखाधड़ी की खबर सामने आने के बाद आईडीबीआई बैंक के शेयरों ने जबरदस्त गोता लगाया और उसके शेयर 5 फीसदी से ज्यादा गिरावट के साथ बंद हुए।

आईडीबीआई बैंक ने कहा है कि तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में उसकी पांच शाखाओं में 772 करोड़ रूपए के फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में आईडीबीआई बैंक कहा फर्जीवाड़ा कर्ज के माध्यम से हुआ है। यह कर्ज मछली पालन के लिए दिए गए थे। बैंक के मुताबिक मछली पालन के नाम पर कुछ कर्ज फर्जी दस्तावेजों के आधार पर दे दिए गए। इनमें तालाब के पट्टे के ऐसे कागजात पेश किए गए, जिनका कहीं कोई अस्तित्व ही नहीं था। साथ ही गारंटी के तौर पर रहन रखी गई संपत्तियों की कीमत भी बढ़ा-चढ़ाकर बताई गई थी।

बैंक का कहना है कि कर्ज देने की प्रक्रिया और कर्ज वितरण में तमाम खामियां पाई गई हैं और इसमें मुख्य रूप से दो अधिकारियों के शामिल होने की बात सामने आई है। बैंक ने इनमें से एक अधिकारी को बर्खास्त कर दिया है। दूसरे अधिकारी रिटायर हो चुके हैं।

बैंक ने इस सिलसिले में सीबीआई को पांच शिकायतें सौंपी हैं, जिनके आधार पर 2 मामलों में केस दर्ज कर लिया गया है। जिन शाखाओं का केस दर्ज हुआ है, उनमेंउसकी बशीरबाग और गुंटूर शाखाएं शामिल हैं। इसके साथ ही बैंक ने मंगलवार को क्वालिटी एश्योरेंस ऑडिट की शुरुआत भी कर दी है।

आईडीबीआई बैंक में 772 करोड़ का फर्जीवाड़ा, खबर सामने आते ही धड़ाम हो गए शेयर

फर्जीवाड़े की खबर सामने आते ही बुधवार को आईडीबीआई बैंक का शेयर 5 फीसदी से ज्यादा गिरकर 73 रुपए पर आ गया। इससे सरकारी बैंकों के इंडेक्स निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स में 1.8 फीसदी की गिरावट देखने को मिली।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;