धर्म के नाम पर विवाद करना सही नहीं, सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए। कोई भी किसी धर्म को मजहब को मानने वाला है, उसका अपना-अपना तरीका है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए। कोई भी किसी धर्म को मजहब को मानने वाला है, उसका अपना-अपना तरीका है। सब लोग अपने ढंग से त्योहार मनायें लेकिन इसको लेकर के आपस में विवाद नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार में किसी तरह का विवाद नहीं है। पटना में जनता दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने लाऊडस्पीकर पर नमाज को लेकर देश के कुछ हिस्सों में जारी विवाद के सवाल पर कहा कि जब से हमें काम करने का मौका मिला है तब से ही आपस में किसी तरह का विवाद न हो, झंझट न हो इसको लेकर हमलोग काम करते रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पहले बिहार में कितना विवाद होता था, लेकिन हमलोगों ने लोगों में अवेयरनेस लाकर इसको बिल्कुल समाप्त करने की लगातार कोशिश की है। उन्होंने कहा कि हमलोग चाहते हैं कि सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए। कोई भी किसी धर्म को मजहब को माननेवाला है, उसका अपना-अपना तरीका है। सब लोग अपने-अपने ढंग से अपना त्योहार मनायें लेकिन इसको लेकर के आपस में विवाद नहीं करना चाहिए।


उन्होंने कहा कि सब अपने-अपने धर्म का मजहब का पालन कीजिए। इसको लेकर कहीं कोई रोक नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर आप सचमुच पूजा में विश्वास करते हैं तो ठीक से पूजा कीजिये। एक-दूसरे से झगड़ा करने का, पूजा करने से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि बिहार में ऐसा कुछ नहीं है लेकिन कुछ-न-कुछ तो इधर-उधर होता ही रहता है। यहां पर अलर्टनेस है।

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर द्वारा कांग्रेस की जिम्मेदारी संभालने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं है। सबको अपना अधिकार है, राजनैतिक रूप से कोई क्या करना चाहता है, ये उसका अपना अधिकार है। हमसे उनका व्यक्तिगत संबंध रहा है और है भी।


'बिहारी बाबू' के नाम से चर्चित शत्रुघ्न सिन्हा के पश्चिम बंगाल से लोकसभा चुनाव जीतकर 'बंगाली बाबू' बनने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहारी बाबू और बंगाली बाबू क्या है, सब हिंदूस्तानी बाबू हो जाइए। ये सबसे अच्छा है। इसमें क्या दिक्कत है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia