जम्मू कश्मीर के बीजेपी अध्यक्ष ने राज्यपाल को बताया ‘अपना बंदा’, वीडियो हुआ वायरल

बीजेपी की जम्मू-कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रविंदर रैना ने नये राज्यपाल सत्यपाल मलिक को ‘अपना बंदा’ बताया है। वायरल हो रहे वीडियो में वह ये दावा भी कर रहे हैं कि पूर्व राज्यपाल एनएन वोहरा को इसलिए हटाया गया है क्योंकि वह बीजेपी नेताओं की नहीं सुनते थे।

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर के नये राज्यपाल सत्यपाल मलिक के अपना कार्यभार संभालने के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना का एक विवादास्पद बयान सामने आया है। गुरुवार को वायरल हो रहे वीडियो में रैना ने राज्यपाल को अपना बंदा बताया है। वायरल वीडियो क्लिप में रैना अपने आसपास के लोगों से कहते दिखाई दे रहे हैं, "अब जो गवर्नर आया है, वो हमारा बंदा है।"

पहली बार विधायक बने रैना इसी वीडियो में यह कहते हुए भी दिखाई दे रहे हैं कि पूर्व राज्यपाल एन एन वोहरा को इसलिए हटाया गया, क्योंकि वह अपनी ही चलाते थे और बीजेपी नेताओं की बिल्कुल नहीं सुनते थे। यही नहीं वीडियो में रैना पूर्व राज्यपाल एनएन वोहरा की नियुक्ति से लेकर उनको हटाए जाने और नये राज्यपाल की नियुक्ति तक की बीजेपी की पूरी रणनीति बयान करते नजर आ रहे हैं। वीडियो में रैना कहते नजर आ रहे हैं, “वोहरा को हम यहां लाना नहीं चाहते थे, वह अपनी ढपली बजाता था। अब नया गवर्नर आया है वो ‘अपना बंदा’ है।”

बता दें कि सत्यपाल मलिक ने पिछले हफ्ते ही राजनीतिक संकट से जूझ रहे इस राज्य के राज्यपाल पद पर वोहरा की जगह ली है, जिनके बारे में राज्य की राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि उन्हें पद से हटाए जाने पर उचित विदाई तक नहीं दी गई। इस पहले बिहार के राज्यपाल रहे सत्यपाल मलिक ने अपने शपथ से पहले बताया था कि अपनी नई नियुक्ति के बारे में उन्हें 21 अगस्त को आधिकारिक घोषणा से महज 2 घंटे पहले ही जानकारी दी गई थी।

गौरतलब है कि राज्य में बीजेपी के युवा चेहरा माने जाने वाले रैना का विवादों से पुराना नाता रहा है। रजौरी जिले के नैशेरा से पहली बार विधायक बने रविंद्र रैना ने बीफ पार्टी आयोजित करने के लिए अक्टूबर 2015 में एक निर्दलीय विधायक पर राज्य विधानसभा के अंदर ही हमला कर दिया था। इसी साल मार्च में उन्होंने एक मुठभेड़ के दौरान घटनास्थल पर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और सेना के जवानों के साथ ली गई एक तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली थी। उनकी इस हरकत के लिए काफी खिंचाई हुई थी। हाल ही में उन्होंने तब एक नया विवाद खड़ा कर दिया था, जब उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की चिता के पास खड़े होकर ली गई एक सेल्फी पोस्ट की थी।

वायरल हो रहे ताजा वीडियो से रैना तो एक बार फिर विवादों में आ ही गए हैं, लेकिन इस बार उन्होंने अपनी पार्टी और केंद्र में उसकी सरकार की नीयत पर भी सवालिया निशान खड़े कर दिये हैं। रैना के इस वीडियो के वायरल होने के बाद राज्य के सियासी हलकों में सरगर्मी आ गई है। जहां विपक्ष अब बीजेपी पर हमलावर होता नजर आ रहा है, तो वहीं बीजेपी को फिलहाल इस विवाद से बचने का कोई रास्ता नहीं दिखाई दे रहा है।

लोकप्रिय