जम्मू-कश्मीर: कुलगाम मुठभेड़ में मार गए दोनों आतंकी निकले पाकिस्तानी नागरिक, जैश के लिए करते थे काम

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कश्मीर क्षेत्र के महानिरीक्षक विजय कुमार के हवाले से बताया गया कि कुलगाम-शोपियां जिले में 2018 से आतंकवादी की श्रेणी में रखा गया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के मिरहमा इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकवादियों की पहचान प्रतिबंधित जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तानी नागरिकों के रूप में हुई है। यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी। "मारे गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों की पहचान पाकिस्तान के निवासी सुल्तान पठान और जबीउल्लाह के रूप में हुई है।"

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कश्मीर क्षेत्र के महानिरीक्षक विजय कुमार के हवाले से ट्वीट किया, "उन्हें कुलगाम-शोपियां जिले में 2018 से आतंकवादी की श्रेणी में रखा गया था।"

पुलिस ने कहा कि कुलगाम के मिरहमा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी के संबंध में कुलगाम पुलिस के इनपुट के आधार पर, पुलिस और सेना द्वारा एक संयुक्त घेरा और तलाशी अभियान शुरू किया गया था। पुलिस और सुरक्षा बलों की एक संयुक्त टीम ने विशेष जानकारी के आधार पर आतंकवादियों की मौजूदगी वाले इलाके को घेरकर तलाशी अभियान शुरू किया।

जैसे ही सुरक्षा बल आतंकवादियों की छिपी हुई जगह पर पहुंचे, तभी उन्होंने बचाव में गोलीबारी की। इसी के साथ दोनों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। उनके पास से दो एके राइफल, सात एके मैगजीन और 9 हथगोले सहित आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia