कर्नाटक: CM सिद्दारमैया ने एकनाथ शिंदे को लिखा पत्र, कृष्णा और भीमा नदी में तुरंत पानी छोड़ने की मांग

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने कहा कि कर्नाटक के उत्तरी जिलों में भीषण गर्मी की स्थिति अभी भी बनी हुई है और मनुष्यों और पशुओं को घरेलू उपयोग के लिए पीने के पानी की जरूरत है।

शपथ समारोह के दौरान बेंगलुरु के कांतीरवा स्टेडियम में लोगों को संबोधित करते सिद्दारमैया
शपथ समारोह के दौरान बेंगलुरु के कांतीरवा स्टेडियम में लोगों को संबोधित करते सिद्दारमैया
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने बुधवार को महाराष्ट्र सीएम एकनाथ शिंदे को पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से उन्होंने सीएम शिंदे से अनुरोध किया वे संबंधित अधिकारियों को वारना/कोयना जलाशय से कृष्णा नदी में और उज्जनी जलाशय से भीमा नदी में पानी छोड़ने का निर्देश दें। सीएम ने पत्र में कहा कि बेलगावी, विजयपुरा, बागलकोट, कलबुर्गी, यादगीर और रायचूर के उत्तरी कर्नाटक जिले मार्च 2023 से भीषण गर्मी के कारण पीने के पानी की भारी कमी का सामना कर रहे हैं। इस गर्मी के मौसम के दौरान कर्नाटक सरकार पहले अनुरोध में वारना/कोयना जलाशय से कृष्णा नदी में 2 टीएमसी पानी और उज्जनी जलाशय से 3 टीएमसी पानी भीमा नदी तक तुरंत छोड़ने का अपील की गई थी। मई 2023 की शुरुआत में दो हफ्ते में कृष्णा नदी में 1 टीएमसी पानी छोड़ा गया है। मैं इसके लिए महाराष्ट्र सरकार को अपनी ईमानदारी से धन्यवाद देता हूं।

उन्होंने कहा कि कर्नाटक के उत्तरी जिलों में भीषण गर्मी की स्थिति अभी भी बनी हुई है और मनुष्यों और पशुओं को घरेलू उपयोग के लिए पीने के पानी की जरूरत है। उत्तर कर्नाटक क्षेत्र में मानसून अभी शुरू नहीं हुआ है। इसलिए मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि उत्तरी कर्नाटक के मनुष्यों और पशुओं दोनों की पीने के पानी की जरूरतों को पूरा करने के लिए वारना/कोयना जलाशय से कृष्णा नदी में 2 टीएमसी पानी और उज्जनी जलाशय से भीमा नदी तक 3 टीएमसी पानी तुरंत छोड़ने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दें।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */