टारगेट किलिंग के डर से पलायन कर रहे कश्मीरी पंडित, लेकिन पीएम मोदी वस्त्र बदल बदलकर इवेंट रचाने में व्यस्त: कांग्रेस

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार में कश्मीरी पंडितों की कोई सुनवाई नहीं है। कश्मीरी पंडित अपने घर और जमीन छोड़कर जा रहे हैं, लेकिन इन हालातों से बेपरवाह पीएम मोदी कपड़े बदल बदलकर इवेंट रचा रहे हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

रवि प्रकाश

कश्मीरी पंडितों के हालात को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि सरकार कश्मीरी पंडितों की हालत पर श्वेत पत्र जारी करे? सरकार ने अब तक जो किया और जो नहीं किया वह सब जानकारी दे। उन्होंने आगे कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर में चुनाव नहीं करा पा रही है, वहां क्या यही उपलब्धि है? सरकार वहां रह रहे पंडितों की रक्षा भी नहीं कर पा रही है क्या यही उपलब्धि है सरकार की?

'कश्मीरी पंडित कर्मचारियों को मिल रही धमकी'

कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार द्वारा भी कश्मीरी पंडित कर्मचारियों को धमकाया जा रहा है, अगर आप ज्वाइनिंग नहीं करोगे, तो आपके खिलाफ कार्रवाई होगी। पवन खेड़ा ने कहा कि आप उन्हें सुरक्षित नहीं रख सकते, पुनर्स्थापन नहीं कर सकते; जबरन उनको रख कर विश्व को दिखाना चाहते हैं कि सब चंगा सी।


'शोपियां से 15 कश्मीरी पंडित परिवार ने छोड़ा घर'

कांग्रेस ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि, जब 1989 में कश्मीरी पंडितों का पहला विस्थापन हुआ था, उस समय भी केंद्र में बीजेपी की समर्थन वाली सरकार थी। उस समय जब कश्मीरी पंडित घाटी छोड़कर जा रहे थे, तब भी बीजेपी ने सरकार से समर्थन वापस नहीं लिया था। और अब जब केंद्र में 8 साल से बीजेपी की सरकार है कश्मीरी पंडित घाटी छोड़ने को मजबूर हैं। पवन खेड़ा ने कहा कि, शोपियां जैसा इलाका जहां कश्मीरी पंडित 32 साल तक डटे रहे। जब हम दिवाली हर्षोल्लास के साथ मना रहे थे, उसी रात शोपियां से 15 कश्मीरी पंडित परिवार अपने पुश्तैनी घर छोड़ने को मजबूर हो रहे थे।

'मोदी सरकार में कश्मीरी पंडितों की कोई सुनवाई नहीं'

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार में कश्मीरी पंडितों की कोई सुनवाई नहीं है। कश्मीरी पंडित अपने घर और जमीन छोड़कर जा रहे हैं, लेकिन इन हालातों से बेपरवाह पीएम मोदी कपड़े बदल बदलकर इवेंट रचा रहे हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia