नूपुर शर्मा की तस्वीर का सिर कलम करने वाला कश्मीरी यूट्यूबर गिरफ्तार, यूट्यूब पर पोस्ट किया था वीडियो

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को कश्मीर के यूट्यूबर फैसल वानी को गिरफ्तार किया, जिसने बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा का सिर कलम करने का अभिनय कर उसे डिजिटल रूप से प्रसारित किया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को कश्मीर के यूट्यूबर फैसल वानी को गिरफ्तार किया, जिसने बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा का सिर कलम करने का अभिनय कर उसे डिजिटल रूप से प्रसारित किया था। पुलिस ने कहा, "हमने यूट्यूबर के खिलाफ श्रीनगर के सफा कदल पुलिस स्टेशन में धारा 505 और 506 आईपीसी के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।"

शुक्रवार को जब बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता के खून के लिए कई इस्लामवादियों ने पूरे भारत में दंगे भड़काए, तब आरोपी ने अपने यूट्यूब चैनल 'डीप पेन फिटनेस' पर एक परेशान करने वाला वीडियो पोस्ट किया।

इस वीडियो में वानी को यह कहते हुए सुना जा सकता है : "कोई कार्रवाई नहीं, गुस्ताक-ए-रसूल की एक ही साजा - सर कलम (ईशनिंदा की सजा सिर काटना)।"

इसके बाद वीडियो में यूट्यूबर को नूपुर शर्मा की तस्वीर को कुल्हाड़ी से काटते देखा गया। वानी को बीजेपी की पूर्व नेता की तस्वीर के कटे हुए सिर को पकड़े हुए और घृणा के साथ फेंकते हुए भी दिखा गया है।


सोशल मीडिया पर नाराजगी के बाद वानी ने कानूनी कार्रवाई को टालने की उम्मीद में बेगुनाह होने का दावा किया। शनिवार की रात उसने दावा किया, "कल मैंने नूपुर शर्मा के बारे में एक वीएफएक्स वीडियो बनाया था, जो पूरे भारत में वायरल हो गया और मेरे जैसा एक निर्दोष व्यक्ति विवाद में फंस गया।"

उसने अपने दर्शकों से यह दावा करते हुए भावनात्मक अपील की कि हाल के दिनों में उसकी आजीविका का स्रोत प्रभावित हुआ है। पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी वाला नूपुर शर्मा का वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किए जाने के बाद से इस्लामवादियों ने बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर और उनके परिवार को डराना, धमकाना जारी रखा है।


मई 2022 के अंतिम सप्ताह में एक समाचार चैनल पर बहस के दौरान टिप्पणी करने से पहले नूपुर शर्मा ने पूछा था कि जिस तरह से लोग शिवलिंग और हिंदू धर्म के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहे हैं, क्या वह इस्लाम के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी कर सकती हैं।

उस बहस के बाद से पूर्व बीजेपी प्रवक्ता के खिलाफ डराने-धमकाने का अभियान बेरोकटोक जारी है, जिसमें घरेलू और विदेशी इस्लामवादी उनके खून के लिए बेताब हैं। उन्हें कई बार मौत और सिर काटने की धमकी मिली है।


उनके खिलाफ भारत के विभिन्न राज्यों में कई एफआईआर भी दर्ज की गई हैं। उनकी कथित 'ईशनिंदा' के बाद माफी मांगने और उन्हें बीजेपी से निलंबित किए जाने के बावजूद इस्लामवादी उन्हें धमकियों के साथ निशाना बनाना जारी रखे हुए हैं। उनके सिर पर अब भी 20 लाख रुपये से लेकर एक करोड़ रुपये तक के इनाम रखे गए हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia