केरलः अपने ऑफिस में बीजेपी युवा मोर्चा के हंगामे पर शशि थरूर ने पूछा, क्या देश में भी ऐसा ही चाहते हैं हम?

बीजेपी युवा मोर्चा के इस हंगामे से थरूर के दफ्तर में अपनी फरियाद लेकर आए लोगों के बीच अफरा-तफरी मच गई और वे हंगामे से बचने के लिए इधर-उधर भागने लगे। इससे थोड़ी देर के लिए वहां पर भय और डर का माहौल बन गया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

केरल की राजधानी तिरुअनंतपुरम में भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा (भाजयुमो) के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस नेता और स्थानीय सांसद शशि थरूर के दफ्तर में घुसकर हंगामा किया। इस दौरान भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और थरुर के दफ्तर में घुसकर वहां ‘हिंदू पाकिस्तान ऑफिस’ लिखा एक बैनर भी टांग दिया। हंगामा कर रहे योवा मोर्चा के लोगों ने दफ्तर के गेट पर लगी होर्डिंग में थरूर की तस्वीर पर कालिख भी फेंकी। हमलावरों ने इस दौरान वहां लगे होर्डिंग और बैनर के साथ तोड़-फोड़ भी की। बीजेपी युवा मोर्चा के इस हंगामे से थरूर के दफ्तर में अपनी फरियाद लेकर आए लोगों के बीच अफरा-तफरी मच गई और वे हंगामे से बचने के लिए इधर-उधर भागने लगे। इससे थोड़ी देर के लिए वहां पर अफरी-तफरी का माहौल बन गया।

हालांकि, इस घटना के समय शशि थरूर अपने ऑफिस में मौजूद नहीं थे। वह उस समय किसी और कार्यक्रम में शामिल होने गए हुए थे। घटना की जानकारी मिलने के बाद शशि थरूर ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “लोग अपनी परेशानियां लेकर आते हैं और ये लोग उन्हें डराकर भगा देते हैं। क्या हम अपने देश में भी ऐसा होने देना चाहते हैं? मैं यह सवाल एक सांसद की हैसियत से नहीं, एक आम नागरिक की हैसियत से पूछ रहा हूं।” उन्होंने आगे कहा कि यह वह हिंदुत्व नहीं है, जिसे मैं जानता हूं।

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक सभी उपद्रवी अपना काम करके भाग चुके थे। पुलिस ने इस मामले में शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। केरल कांग्रेस ने इस घटना की निंदा की है। कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने घटना के बारे में कहा, “इस तरह डरपोक हमला करते हैं। बीजेपी का असली चेहरा इसके जरिये सामने आ गया है।”

हाल ही में कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर बीजेपी आगामी 2019 का लोकसभा चुनाव जीत जाती है, तो देश ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा। थरूर के इस बयान के बाद बीजेपी नेताओं ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia