'कानून व्यवस्था ध्वस्त है योगी बाबा मस्त है', यूपी विधानसभा परिसर में लगे नारे

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के बीच उत्तर प्रदेश विधानमंडल की कार्यवाही शुरू हुई। जहां सत्र के दौरान विपक्ष कानून व्यवस्था और अन्य मुद्दों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया, वहीं इस सबके बीच सरकार के लोग ने भी अपनी बात रखने की कोशिश की।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के बीच उत्तर प्रदेश विधानमंडल की कार्यवाही शुरू हुई। जहां सत्र के दौरान विपक्ष कानून व्यवस्था और अन्य मुद्दों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया, वहीं इस सबके बीच सरकार के लोग ने भी अपनी बात रखने की कोशिश की। आज विधानसभा परिसर में कांग्रेस के नेताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, कांग्रेसी विधायकों के साथोरिसर में स्थित पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास धरना पर बैठे। उनके साथ कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता अराधाना मिश्रा, एमलसी दीपक सिंह भी शामिल रहे।

सभी विधायकों ने हाथों में तख्तियां लेकर योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। तख्तियों में 'कानून व्यवस्था ध्वस्त है योगी बाबा मस्त है', 'यूरिया की कालाबाजारी बंद करो', 'गन्ना मूल्य भुगतान करो', 'बुनकरों को पैकेज दो', 'नौजवानों को रोजगार दो' जैसे स्लोगन लिखे हैं।

मानसून सत्र के तीसरे दिन शनिवार को विधानसभा के साथ विधान परिषद की कार्यवाही भी चलेगी। इस दौरान प्रश्नकाल नहीं होगा। सत्तापक्ष का आज विधानसभा में भी विधेयक को पास कराने पर जोर रहेगा।

उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा, "विधानसभा में हमने शुक्रवार को बताया था कि हमने पूरी कार्यसूची शनिवार के लिए हस्तांतरित कर दी है। विधान भवन में हम सोमवार के काम भी शनिवार यानी आज पूरा करने की कोशिश करेंगे। हमारी पूरी कोशिश होगी की अध्यादेशों और कुछ विधेयकों को पारित करने की कार्यसूची पूरी कर लें।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 22 Aug 2020, 3:00 PM
लोकप्रिय