मध्य प्रदेश: ‘क्रीम सिटी’ में तब्दील हुई राम नगरी ओरछा, पर्यटकों के लिए अद्भुत होगा नाजारा 

पर्यटन स्थान ओरछा में आगामी छह से आठ मार्च के बीच आयोजित किया जा रहा ‘नमस्ते ओरछा’ महोत्सव पर्यटकों के लिए एक अद्वितीय अनुभव होगा। राज्य सरकार इस महोत्सव के माध्यम से प्रदेश में भविष्य के पर्यटन की दिशा निर्धारित कर रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड में स्थित ओरछा को देश की दूसरी अयोध्या के तौर पर जाना-पहचाना जाता है। इस नगरी को नई पहचान दिलाने के मकसद से तीन दिवसीय 'नमस्ते ओरछा' कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस मौके पर राम की नगरी को विशेष आकर्षक रूप दिया गया है और यहां की इमारतों को जयपुर की तर्ज पर क्रीम रंग में रंगा गया है। ओरछा में राम को राजा माना जाता है। यहां उन्हें पुलिस की टुकड़ी नियमित रूप से सलामी देती है। संभवत: देश में यह इकलौता स्थान है, जहां राम को राजा के तौर पर पूजा जाता है। साथ ही ओरछा को मध्य प्रदेश का प्रवेश द्वार माना जाता है। इस स्थल को पर्यटन का केंद्र विकसित करने के मकसद से राज्य सरकार पहली बार तीन दिवसीय महोत्सव का आयोजन कर रही है। इस मौके पर पर्यटकों को इस क्षेत्र का नया रूप देखने को मिलेगा। यही कारण है कि ओरछा को क्रीम सिटी का स्वरूप दिया गया है।

पर्यटन स्थान ओरछा में आगामी छह से आठ मार्च के बीच आयोजित किया जा रहा 'नमस्ते ओरछा' महोत्सव पर्यटकों के लिए एक अद्वितीय अनुभव होगा। राज्य सरकार इस महोत्सव के माध्यम से प्रदेश में भविष्य के पर्यटन की दिशा निर्धारित कर रही है। इसमें इको-पर्यटन क्षेत्र में रोजगार के नए अवसरों पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा। इस महोत्सव के दौरान ऐतिहासिक स्थल ओरछा से जुड़ी प्राचीन कहानियों के जरिए पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करेगा।


सरकारी सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री कमलनाथ छह मार्च को इस महोत्सव का उद्घाटन करेंगे। पहले दिन बुंदेलखंड और मध्य प्रदेश के कलाकारों की प्रस्तुति होगी। महोत्सव के दूसरे दिन सात मार्च को ओरछा किले और कन्वेन्शन सेंटर में बिजनेस कान्क्लेव आयोजित होगा। समारोह के तीसरे दिन आठ मार्च को वेलनेस और योगा सत्र होगा।

इस तीन दिनी महोत्सव के दौरान ओरछा में स्थानीय कलाकारों के उत्पादों का क्राफ्ट बाजार लगेगा, जिसमें दरी, पिथोरा पेंटिंग्स, चंदेरी बुनाई, महेश्वरी साड़ी, बॅटिक, बाग प्रिंट और गोंड पेंटिंग्स पर फोकस रहेगा। यहां फूड बाजार भी लगाया जाएगा। महोत्सव के दौरान सुबह वेलनेस और योगा सत्र, फोटोग्राफी वर्क, साइकिलिंग टूर और हाट एयर बैलून आदि गतिविधियां भी होंगी।

नमस्ते ओरछा महोत्सव के माध्यम से मध्यप्रदेश राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन क्षेत्र में अपनी पहचान को और अधिक विस्तार देने की पहल कर रहा है। इसके लिए राज्य सरकार ने अपने स्तर पर व्यापक तैयारियां की हैं, और यह सिलसिला जारी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia