महाराष्ट्र: सत्ता जाते ही BJP नेताओं में छिड़ी जंग, फडणवीस ने अपनी ही पार्टी के नेता को बताया झूठा

देवेंद्र फडणवीस ने अनंत हेगड़े के सभी बयानों को झूठा बताते हुए कहा कि केंद्र सरकार को कोई भी पैसा वापस नहीं किया गया है और सीएम रहते हुए उन्होंने ऐसा कोई भी फैसला नहीं लिया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में सत्ता बदलते ही भारतीय जनता पार्टी के नेताओं में आपसी युद्ध शुरू होता दिखाई दे रहा है। सोमवार को बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ने देवेंद्र फडणवीस को 80 घंटों के लिए सीएम बनाने को लेकर एक बड़ा खुलासा किया, जिसके जवाब में पूर्व सीएम ने अपनी ही पार्टी के नेता को झूठा बता दिया। पूर्व सीएम ने कहा है कि केंद्र सरकार को कोई भी पैसा वापस नहीं किया गया है और सीएम रहते हुए उन्होंने ऐसा कोई भी फैसला नहीं लिया था।

सोमवार को बीजेपी सांसद ने कहा, “केंद्र सरकर की तरफ से महाराष्ट्र को 40 हज़ार करोड़ की राशी भेजी गई थी। हम जानते थे कि अगर कांग्रेस शिवसेना और एनसीपी की सरकार आती है तो इस पैसे का गलत इस्तेमाल किया जाएगा। इसीलिए देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाने का ड्रामा खेला गया और फडणवीस ने महज 15 घंटे के अंदर उस राशि को वापस केंद्र सरकार को भेज दिया।”

इस खुलासे के बाद केंद्र सरकार को पैसा वापस भेजने की बात का खंडन करते हुए फडणवीस ने हेगड़े के सभी बयानों को झूठा बताया है। पूर्व सीएम ने कहा है कि केंद्र सरकार को कोई भी पैसा वापस नहीं किया गया है और सीएम रहते हुए उन्होंने ऐसा कोई भी फैसला नहीं लिया था।

उधर रविवार को महाराष्ट्र में बीजेपी नेता पंकजा मुंडे ने भी बगावती संकेत दिए थे। उन्होंने 8 से 10 दिन के भीतर बड़े फैसले लेने की बात कही थी। उन्होंने फेसबुक पोस्ट के जरिए बताया था कि वह 12 दिसंबर को समर्थकों के साथ एक बैठक करेंगी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि वह बड़े फैसले लेंगी।

पंकजा ने कहा था, “बदले हुए राजनीतिक परिदृश्य में भावी कार्रवाई पर फैसला लेना जरूरी है। मुझे बहुत कुछ कहना है, ऐसे में मुझे उम्मीद है कि मेरे ‘जवान’ रैली में जरूर आएंगे। मैं यह तय करूंगी कि आगे क्या करना है, किस रास्ते पर मुझे चलना है। हमारी मजबूती क्या है, इस पर ध्यान देना बेहद जरूरी है।”

लोकप्रिय