महाराष्ट्र: बैकफुट पर BJP, स्पीकर के लिए नहीं होगी वोटिंग, कांग्रेस के नाना पटोले निर्विरोध चुने गए विधानसभा अध्यक्ष

विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर द्वारा बुलाई गई सभी विधायकों की मीटिंग के दौरान पदाधिकारियों के अनुरोध के बाद BJP ने अपने उम्मीदवार किशन कठोरे का नामांकन वापस ले लिया और कांग्रेस नेता नाना पटोले को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुन लिया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में विधानसभा स्पीकर पद के लिए अब वोटिंग नहीं होगी। इस पद की रेस से बीजेपी ने अपने उम्मीदवार किशन कठोरे का नामांकन वापस ले लिया है। शनिवार को कांग्रेस नेता नाना पटोले को निर्विरोध महाराष्ट्र विधान सभा का अध्यक्ष चुन लिया गया है। शनिवार को स्पीकर पद के लिए भारतीय जनता पार्टी की तरफ से किशन कठोरे और कांग्रेस की ओर से नाना पटोले का नामांकन दाखिल किया गया था।

रविवार सुबह विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर द्वारा बुलाई गई सभी विधायकों की मीटिंग के दौरान पदाधिकारियों के अनुरोध के बाद बीजेपी ने भी विधानसभा की गरिमा बनाए रखने की बात कहते हुए अपने उम्मीदवार किशन कठोरे का नामांकन वापस ले लिया और कांग्रेस नेता पटोले को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुन लिया गया।

महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा, “कल महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए किशान कठोरे को नामित किया गया था। लेकिन, अन्य पार्टियों के विधायकों के अनुरोध के बाद हमने कथोरे की उम्मीदवारी वापस लेने का फैसला किया है”

उन्होंने कहा, "बीजेपी ने शनिवार को अपने उम्मीदवार किशन कठोरे का नामांकन भरा था, लेकिन कल रात से ही सत्ताधारी पार्टी के नेताओं ने आग्रह करना शुरू किया। जिसके बाद यह निर्णय लिया गया कि महाराष्ट्र की प्रथा और परम्परा के अनुसार विधानसभा अध्यक्ष का नाम किसी भी तरह विवाद में नहीं लाया जाएगा और विधानसभा की गरिमा बनाए रखने के लिए अध्यक्ष पद का चुनाव अब निर्विरोध होगा। इसलिए हमने अपने उम्मीदवार का नाम वपस ले लिया है।”

मीटिंग के दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता छगुन भुजबल ने बताया था, “इससे पहले, विपक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए भी पर्चा भरा था, लेकिन अन्य विधायकों के अनुरोध के बाद और विधानसभा की गरिमा को बनाए रखने के लिए, उन्होंने नाम वापस ले लिया। अब अध्यक्ष का चुनाव निर्विरोध होना है।”

लोकप्रिय