महाराष्ट्र बारिश: मुंबई समेत कई इलाकों में हालात खराब, 500 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया

सांता क्रूज और मिलन सब-वे के पास भी बारिश की वजह काफी पानी जमा हो गया है। रविवार को भी खराब मौसम के चलते कई ट्रेनें और फ्लाइट्स रद्द हुईं। इस बीच पालघर में 16 साल के एक बच्चे की डूबने से मौत हो गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में बारिश की वजह से हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। मुंबई समेत कई अन्य शहरों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई हैं। मौसम विभाग के अनुसार अगले कई घंटों तक महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश पड़ सकती है। महाराष्ट्र के रायगढ़ समेत कई इलाकों में एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। बाढ़ के हालातों को देखते हुए पुणे नगर निगम विभाग ने 500 लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया है। इसके अलावा पुणे में एनडीआरएफ की टीम ने एक गाय को भी सुरक्षित तरीके से बचा लिया।

मौसम विभाग ने मुंबई के मरीन ड्राइव पर हाई टेड की तीव्रता बढ़ने के अनुमान के साथ अलर्ट जारी किया है। वकोला और अंधेरी समेत कई इलाकों में सड़कें पूरी तरह से नदियों में तब्दील हो चुकी हैं। नासिक के त्रंबकेश्वर मंदिर में बाढ़ का पानी भर गया है। इसके अलावा कल्याण समेत कई रेलवे स्टेशनों पर भी पानी ही पानी नजर आरहा है।

सांता क्रूज और मिलन सब-वे के पास भी बारिश की वजह काफी पानी जमा हो गया है। लगातार बारिश की वजह से रविवार को यातायात भी प्रभावित हुआ। रविवार को भी खराब मौसम के चलते कई ट्रेनें और फ्लाइट्स रद्द हुईं। इस बीच पालघर में 16 साल के एक बच्चे की डूबने से मौत हो गई।


हालांकि रविवार को ज्यादातर ऑफिसों की छुट्टी होने की वजह से ट्रेन रद्द होने से लोगों को ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा। मध्य रेलवे सेवा के प्रमुख प्रवक्ता सुनील उदासी ने बताया कि लगातार बारिश के कारण पटरियों पर कई जगह पानी भर जाने के कारण छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (मुंबई में) और कर्जत, कसारा और खोपोली के बीच मेन लाइन और हर्बर लाइन पर सुबह आठ बजे से सेवाएं निलंबित हैं।

उन्होंने कहा, 'यात्रियों को परेशानी का सामना ना करना पड़े, इसके लिए एहतियाती तौर पर सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। प्रत्येक घंटे स्थिति का आकलन किया जा रहा है।'

दूसरी तरफ मुंबई हवाई अड्डे के एक अधिकारी के मुताबिक शहर आने वाली दो उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है और छह उड़ानों को इंतजार करने को कहा गया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia